Agriculture Success Story : धान की किस्म से किसान को हो रहा है मुनाफा ही मुनाफा, बताया क्या है राज

Agriculture Success Story धान की किस्म से किसान को हो रहा है मुनाफा ही मुनाफा, बताया क्या है राज : देश के कई farmer ऐसे हैं जिनको अब पारंपरिक खेती से मुनाफा नहीं हो पा रहा है, जिसके चलते या तो वो खेती को छोड़ कर कुछ मजदूरी करने को मजबूर हैं या किसी और कोम की तलाश में इधर-उधर भटक रहे हैं, लेकिन देश में ऐसे कई सारे farmer भी हैं जो खेती के नए गुणों को समझ रहे हैं। उनको सीख रहे हैं और फिर खेती से ही लाखों का मुनाफा कमा करे रहे हैं। ऐसे farmer तेजी से देश के बाकी farmers के लिए मिसाल बनते जा रहे हैं।

Agriculture Success Story : धान की किस्म से किसान को हो रहा है मुनाफा ही मुनाफा, बताया क्या है राज

Agriculture Success Story : धान की किस्म से किसान को हो रहा है मुनाफा ही मुनाफा, बताया क्या है राज
Success Story of Paddy farmer Amritlal Dhangar

इसके साथ ही वो farmers को खेती के गुण भी बताते हैं और ये भी सिखाते हैं कि वो कैसे खेती से लाखों का मुनाफा कमा सकते हैं। ऐसे ही आज हम आपको एक farmer के सफलता की कहानी बताने जा रहे हैं, जो धान के अलग-अलग किस्म की खेती करते हैं और उससे ही अच्छा मुनाफा भी कमा रहे हैं। ये कहानी है सफल Agriculture farmer अमृतलाल ढन्गर की। ये मध्य प्रदेश के मण्डला जिले के रहने वाले हैं और इसको लेकर ये कहना गलत नहीं होगा कि ये एक प्रगतिशील farmer हैं, जिन्होंने अपनी मेहनत और तकनीक से कृषि क्षेत्र में बड़ी सफलता पायी है।

Agriculture Success Story of Paddy farmer Amritlal Dhangar

farmer अमृतलाल बरबसपुर विकासखंड बिछिया में खेती करते हैं। वहीं एक इंटरव्यू के दौरान farmer अमृतलाल ने अपने और अपनी खेती के बारे में काफी विस्तार से बताया है। farmer अमृतलाल का कहना है कि वो पिछले 50 सालों से खेती ही करते आ रहे हैं। इन्होंने इस बार धान की स्वर्णा कोस्टल किंग (Swarna Coastal King) किस्म की खेती की है। यह किस्म 150 दिन में पक्कर तैयार हो जाती है।

Farmer अमृतलाल ने बताया कौनसी धान की फसल है बेहतर

Agriculture farmer अमृतलाल ने अपनी सफल खेती-farming के बारे में और ज्यादा विस्तार से बताते हुए कहा कि इसकी रोपड़ी 20 जून को की थ। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि उन्होंने खेत में 5 जुलाई से धन लगवाना शुरू किया था। farmer अमृतलाल के मुताबिक यह किस्म उत्पादन के मामले में बाकी किस्मों से सबसे ऊपर मानी जाती है। उनका कहना है कि जितना उत्पादन farmer इस किस्म से ले सकते हैं। उतना किसी और किस्म में उत्पादन नहीं मिल पाता।

Agriculture अमृतलाल ने बताया कैसे कर सकते हैं धान की खेती

farmer अमृतलाल आगे बताते हैं कि इसमें कल्ले ज्यादा निकलते हैं। इसमें कम से कम 120 से 140 कल्ले तक निकलते हैं। पिछली साल का लगभग 45 कुंटल का उत्पादन हुआ था। farmer अमृतलाल बताते हैं कि धान में पानी की ज्यादा जरूरत नहीं होती है। बस नमी बनी रहनी चाहिए। रोपड़ी के बाद farmer अगर खेत खाली कर देते हैं तो, बानी नहीं रहता है तो भी कोई दिक्कत की बात नहीं है। ऐसा करने पर पौधों को पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व मिलेंगे और जड़ें ज्यादा अच्छी तरह से फूट सकेंगी।

Farmer अमृतलाल ने घर में लगाया Biogas plant

इतना ही नहीं 6 एकड़ के खेत में धान की खेती करने वाले farmer अमृतलाल ने इस साल घर में बायोगैस प्नलांट (Biogas plant) भी लगा रखा है। इससे हर साल 200 क्विंटल खाद मिलती है। farmer अमृतलाल धान में लगने वाले रोगों के बारे में बात करते हुए बताते है कि उनके यहां के खेतों में कंडवा रोग की समस्या बेहद ज्यादा है। ऐसे में अगर कोई farmer इससे बेहद ज्यादा ही परेशान है तो वो इसके लिए Trichoderma का उपयोग गोबर खाद के साथ कर सकते हैं। इसके अलावा farmer अमृतलाल का बाकी farmers के लिए भी यही सुझाव है कि farmer ग्रीष्मकालीन जुताई जरूर करें।

farmer अमृतलाल की दूसरे किसानों को सलाह

इसके साथ ही farmer धान और गेहूं की भूसी खेतों में ही सड़ाकर उसका उपयोग करें। farmer अपनी जमीन के अनुसार ही धान के बीज का चयन कर सकते हैं। इससे उत्पादन अच्छा होने के साथ ज्यादा भी होता है और आगे चल कर मुनाफा भी अच्छा मिलता है। इसके अलावा farmer अमृतलाल कहते हैं कि अगर farmer कतार में बुवाई करते हैं तो उसमें लागत भी कम आती है और पानी भी कम लगता है। इसके साथ ही खेती के यंत्रों का भी उपयोग आसानी से किया जा सकता है। बेहतर जानकारी के लिए बता दें कि farmer अमृतलाल खेती के साथ-साथ ही तोतापरी नस्ल की बकरियों के साथ बकरी पालन भी करते हैं।

यह भी पढ़ें:- Agriculture Success Story : केरल के इस किसान ने घर की छत पर उगाए 40 से ज्यादा किस्म के आम, जानें कैसे किया ये कारनाम

Advertisement