Bike RC Transfer Process : घर बैठे बाइक का रजिस्ट्रशन कैसे ट्रांसफर करे, देखे प्रक्रिया यहाँ

Bike RC Transfer Process : आप जानते हैं कि अगर आपके पास वाहन ( Vehicle ) है तो उसे सरकार के पास पंजीकृत कराना होगा ! इसलिए जिस रजिस्ट्रेशन के आधार पर वाहनों को नंबर प्लेट दी जाती है ! पंजीकरण प्रमाणपत्र ( Registration Certificate ) को ही संक्षिप्त रूप में RC कहा जाता है ! आरसी ट्रांसफर ( Bike RC Transfer ) तीन प्रकार के होते हैं !

Bike RC Transfer Process

Bike RC Transfer Process

Bike RC Transfer Process

जिसमें सामान्य बिक्री हस्तांतरण, सार्वजनिक नीलामी के लिए, वाहन मालिक की मृत्यु के बाद स्थानांतरण और हस्तांतरण जैसे विकल्प हैं ! आज के समय में आरसी ट्रांसफर ( Vehicle Registration Card Transfer ) करवाना बहुत मुश्किल है !

लोगों को सही प्रक्रिया दस्तावेज की जानकारी नहीं है ! आज इस लेख में हम आपको बताएंगे कि कैसे आप घर बैठे ही आरसी ट्रांसफर ऑनलाइन ( RC Online Transfer ) करवा सकते हैं ! इसके लिए आपके पास कुछ जरूरी दस्तावेज होने चाहिए !

आवश्यक दस्तावेज़ : Bike RC Transfer Process

आरसी ट्रांसफर ( Old Vehicle RC Transfer ) करने से पहले आपको अपनी पात्रता सत्यापित करनी होगी ! इसके साथ ही आपके पास कुछ जरूरी दस्तावेज भी होने चाहिए ! वाहन पंजीकरण प्रमाण पत्र, बीमा प्रमाण पत्र, पासपोर्ट आकार की तस्वीर, खरीदार की जन्म तिथि का प्रमाण, कर निकासी प्रमाण पत्र, पते का प्रमाण, आरसी बुक, विक्रेता और वाहन के खरीदार का पैन कार्ड, चेसिस ( Chassis Number ) और इंजन पेंसिल प्रिंट आदि आवश्यक दस्तावेज जरुरी है !

Advertising
Advertising

ऑनलाइन स्थानांतरण प्रक्रिया

RC ट्रांसफर ( Vehicle Registration Card Transfer ) के लिए आपको parivahan.gov.in पर जाना होगा ! आपको सबसे पहले इस वेबसाइट पर जाकर अपना अकाउंट बनाना होगा ! अकाउंट बनाने के बाद आप यहां एक ऑनलाइन फॉर्म भरेंगे, जिसकी फीस 525 रूपए होगी ! उस फॉर्म का प्रिंट आउट संबंधित कार्यालय में जमा करना होगा ! एक सफल आवेदन ( Bike RC Transfer Application ) के बाद, वह कार्यालय कुछ ही सेकंड में आगे की आवश्यक प्रक्रिया को पूरा करेगा ! इससे आपका समय बचेगा !

क्या RC Transfer जरूरी है?

आपको हर आरटीओ ( Regional Transport Office ) में आरसी ट्रांसफर की सुविधा मिलेगी ! कई बार ऐसा देखा गया है कि जब कार पार्क की जाती है तो खरीदार और विक्रेता आपस में समझौता कर लेते हैं और इस खरीद के समय आरसी ट्रांसफर ( Bike Registration Card ) नहीं कराते हैं ! इन सौदों में डीलरशिप का कोई हस्तक्षेप नहीं है !

यह कानूनी रूप से सही नहीं है ! इतनी बड़ी गलती से आपका भारी चालान कट सकता है ! साथ ही उस वाहन को कितने भी लोगों को बेचा जाए, लेकिन आधिकारिक तौर पर मालिक वही होगा जिसके नाम पर RC ( Registration Card ) होगी ! यही मुख्य कारण है कि वाहन खरीदते समय आरसी ट्रांसफर ( RC Transfer ) करवाना अनिवार्य है !

PM Awas Yojana Good News : अब आवास योजना में मिलेगी 3 गुना राशि, फटाफट चेक करें स्टेटस