मुख्तार अंसारी का 15 साल पुराने कृष्णानंद राय हत्याकांड का ऑडियो वायरल

मुख्तार अंसारी का 15 साल पुराने कृष्णानंद राय हत्याकांड का ऑडियो वायरल- उत्तरप्रदेश के 15 साल पुराना केस से जुडी बाते अभी सामने आ रही है हम बात करने जा रहे है ! मुख़्तार अंसारी गैंग (Mukhtar Ansari) के मुख्य शूटर हनुमान पांडे (Hanuman Pandey) उर्फ़ राकेश पांडे (Rakesh Pandey) के एनकाउंटर (encounter) के बाद एक बार फिर 15 साल पुराना भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) के विधायक कृष्णानंद राय हत्याकांड दुबारा से सुर्ख़ियों में आ गया है ! दरसल, साल 2005 में बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय (BJP MLA Krishnanand Rai) की हत्या के समय का एक ऑडियो वायरल (Audio Clip viral) हो रहा है !

जो की माफिया डॉन अभय सिंह (Abhay Singh) और मुख़्तार अंसारी की दोनों की के बीच हुई बातचीत बताई जा रही है ! इस ऑडियो में मुख्तार अंसारी कह रहा है कि मुन्ना बजरंगी (Munna Bajrangi) और कृष्णानंद राय (Krishnanand Rai) के बीच गोली चल रही है ! चोटी काट ली, जय श्रीराम…मुट्ठी में है ! बताया जा रहा है कि साल 2005 में यह कॉल एसटीएफ ने इंटरसेप्ट की थी ! उस वक्त अभय सिंह ने फैज़ाबाद जेल से गाजीपुर जेल (Faizabad Jail to Ghazipur Jail) में बंद मुख्तार अंसारी को कॉल किया था !

मुख्तार अंसारी का 15 साल पुराने कृष्णानंद राय हत्याकांड का ऑडियो वायरल

"<yoastmark

2005 में यूपी के बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय की हत्या कर दी गई थी ! इस घटना में एक-47 से एक साथ 400 राउंड फायरिंग (Round firing) की गई थी ! हत्याकांड में उत्तरप्रदेश के बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी समेत उसके भाई अफजाल अंसारी और मुन्ना बजरंगी जैसे गुर्गों को आरोपी बनाया गया था ! लेकिन सबूतों के अभाव में सभी आरोपी सीबीआई की विशेष कोर्ट से बरी हो गए थे !

ये कॉल रिकॉर्डिंग (Call recording) मुख्तार अंसारी और उसके शूटर अभय सिंह (Shooter Abhay Singh) के बीच हुई बात की है ! ये बातचीत उस वक्त की गई थी ! जब 2005 में गाजीपुर में बीजेपी विधायक कृष्णानंद राय समेत 7 लोगों को गोलियों से छलनी कर मौत के घाट उतार दिया गया था ! उत्तरप्रदेश एसटीएफ के एक जवान ने इस ऑडियो को इंटरसेप्ट (Intercept) किया था और कॉल रिकार्ड की गई थी ! बाद में ये ऑडियो सीबीआई (CBI) को भी सौंपा गया था ! ये ऑडियो क्लिप 01 मिनट 8 सेकंड की है !

दोनों के बीच क्या बाते हुई थी

अभय सिंह- हम अभय सिंह बोल रहे हैं…

मुख्तार अंसारी- बोलअ ठाकुर…

अभय सिंह- भइया एक ओ जमीन थी जिसमें रिजवान भाई से वहां बात हुई थी ! सब लोग वहां पर आए हुए थे ! उसमें वो बीच में मामला बिगड़ गया था.

मुख्तार अंसारी- हां…हां…हां…थोड़ा बदमाशी किया है ! सब छोड़ो अभी यहां पर वो हो गया है ! पता चला हल्ला हो रहा है कि गोली चल रही है मुन्ना बजरंगी और कृष्णानंद राय में.

अभय सिंह- अच्छा…

मुख्तार अंसारी- ये सुनने में आया है

अभय सिंह- अच्छा, कहां पर?

मुख्तार अंसारी- कृष्णानंद राय के गांव पर दोनों तरफ से मुकाबला चल रहा है.

अभय- हां, हां, बराबर गोली चल रही है.

मुख्तार अंसारी- हां

अभय- कि एक तरफा…

मुख्तार अंसारी- जय श्री राम….

अभय सिंह- अच्छा ओके

मुख्तार अंसारी- हैलो

अभय- हां, हां…

मुख्तार अंसारी- काट लीन्ह (कृष्णानंद की चोटी के बारे में)

अभय- ठीक है

मुख्तार अंसारी- मुट्ठी में…

अभय- हां, ठीक है…ठीक है…रख रहे हैं बाद में बात होगी…

मुख्तार अंसारी- नमस्ते

राकेश पांडे को इसलिए हनुमान बुलाता था मुख्तार

सीबीआई जांच के दौरान अमिताभ यश (Amitabh Yash) ने बताया कि हनुमान उर्फ़ राकेश पांडे इसी वारदात के सिलसिले में मुख़्तार के साथ जेल में भी रहा था ! वहां वह हमेशा मुख़्तार अंसारी की सेवा में लगा था ! राकेश पांडे हमेशा भगवान के भजन करता रहता था, इसीलिए मुख़्तार अंसारी जी ने उसका नाम हनुमान (Hanuman) रखा था ! हालांकि, सीबीआई कोर्ट ने मुख़्तार अंसारी और राकेश पांडे उर्फ हनुमान को कृष्णानंद राय की हत्या के मामले से बरी कर चुकी है !

यह भी जाने – Parshad : पार्षद क्या होता है | पार्षद बनने के लिए क्या-क्या योग्यताएं होनी चाहिए, जानिए पार्षद के कार्य और अधिकार क्या हैं

भगत सिंह की फांसी के दिन वास्तव में क्या हुआ था