पीएम नरेंद्र मोदी ने राज्यों से की टेस्टिंग बढ़ाने की अपील

पीएम नरेंद्र मोदी ने राज्यों से की टेस्टिंग बढ़ाने की अपील- जब से देश और दुनिया मे कोरोना वायरस (Corona virus) जैसी महामारी आई है तभी से लेकर अब तक न जाने कितने लोग इस बीमारी के चलते मौत हो गई है कोरोना वायरस जैसे संकट के बीच प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी (Prime Minister Honorable Narendra Modi) ने मुख्यमंत्रियों के साथ मंगलवार को वीडियो कॉन्फ़्रेश (Video conference) के जरिये बैठक संपन्न की और जहां जहाँ कोरोना वायरस तेजी  बढ़ता नजर आ रहा है वहा टेस्टिंग बढ़ाने की मांग की और साथ मे उन्होंने कहा कि जैसे-जैसे वक्त बीत रहा है, महामारी अपना रूप बदल रही है और कई तरह की परिस्थिति पैदा हो रही हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि बिहार (Bihar), गुजरात (Gujarat) और तेलंगाना (Telangana) जैसे राज्यों में टेस्टिंग को बढ़ाने की जरूरत है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने राज्यों से की टेस्टिंग बढ़ाने की अपील

पीएम नरेंद्र मोदी ने राज्यों से की टेस्टिंग बढ़ाने की अपील
PM नरेंद्र मोदी ने राज्यों से की टेस्टिंग बढ़ाने की अपील

PM ने कहा कि एक्सपर्ट्स भी इस बात को सामने रख रहे हैं कि अगर 72 घंटे में केस की पहचान हो जाए तो जान बचाई जा सकती है। अपने संबोधन में पीएम ने कहा कि अब इसी 72 घंटे के फॉर्मूले (The formula) पर फोकस करना होगा, जो भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव (Corona positive) निकले उसके 72 घंटे में सभी संपर्क में आए लोगों की टेस्टिंग (Testing) जरूरी है। दिल्ली-यूपी में हालात डराने वाले थे, लेकिन अब टेस्टिंग बढ़ाने के बाद हालात सुधरे हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा लगातार तोर पर मरीजों से मिलना बहुत ही जरुरी  क्योकि अब दिन व दिन बहुत ही तेज़ी से कोरोना के मरीज बढ़ते नजर आ रहे है और साथ मे अब अस्पतालों पर दबाव, स्वास्थ्यकर्मियों पर दबाव, आम लोगों पर दबाव बन रहा है

कोरोना वायरस के आने के बाद अभी के सर्वे के अनुसार देखा जाये तो सबसे ज्यादा केस 10 राज्यों मे बढ़ते नजर आ रहे है अगर सभी राज्य उन राज्यों की टेस्टिंग (Testing) करने मे मदद करें तो हम जल्दी ही कोरोना वायरस जैसी महामारी (Epidemic) से बच सकते है वरना खुद को मौत की दावत देने के बराबर है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश में मृत्यु दर, पॉजिटिव रेट कम हुआ है और रिकवरी रेट (Recovery rate) बहुत ही तेज़ी बढ़ता जा रहा है।पीएम बोले कि टेस्टिंग को लगातार बढ़ाना होगा और मृत्यु दर को 1 फीसदी से भी कम पर रखना होगा। आपको बता दें कि इस बैठक में महाराष्ट्र, गुजरात, उत्तर प्रदेश, बिहार समेत कुल दस राज्यों के मुख्यमंत्री (Chief Minister) शामिल हुए जहां पर कोरोना वायरस के केस सबसे अधिक हैं।

यह भी जाने –  कंटेन्ट राइटिंग क्या है ? जानिए इससे कैसे कर सकते हैं अच्छी खासी कमाएँ
जुगनू के चमकने का कारण क्या है, क्यों इतनी रोशनी देते हैं |