Kirana Shop Business Ideas : जानें कैसे एक किराणा दूकान से वैभव अग्रवाल ने कमायें 5 करोड़ रुपए

Kirana Shop Business Ideas :  कहते है ना कोशिश करने वालो की कभी हार नहीं होती, इस बात का एक जीता जागता उदाहरण है ! सरहानपुर के रहने वाले 31 वर्षीय वैभव अग्रवाल, जिन्होंने अपने पिता संजय अग्रवाल की कमला स्टोर नामक दुकान जो 10 × 20 वर्ग फुट ‘किराना’ स्टोर/ को 1,500 वर्ग फुट क्षेत्र में उन्नत किया ! और 5 करोड़ रुपये के टर्नओवर के साथ एक स्टार्ट-अप बनाया ! और अपनी किस्मत बदलने के लिए देश भर में 100 से अधिक किराने की दुकानों में मदद की है ! हालांकि, किराने के व्यवसाय को और अधिक विकसित करने की योजना बनाने के लिए वैभव ने न केवल अपने पिता की किराने की दुकान की मदद की !

Kirana Shop Business Ideas

Kirana Shop Business Ideas

Kirana Shop Business Ideas

शुरुआती दौर में उनका कई लोगो ने मजाक भी बनाया, परन्तु उन्होंने हार नहीं मानी ! और वो अपने लक्ष्य पर टिके रहे धीरे-धीरे उनका ये व्य्वसाय प्रग्रति की और बढ़ने लगा ! उनका स्टार्ट-अप भी दुकानदारों को सॉफ्टवेयर और एनालिटिक्स प्रदान करने के लिए एक सभ्य राशि के लिए खरोंच से स्टोर स्थापित करने में मदद करता है ! वैभव ने वित्त वर्ष 2011-2022 में 1 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया और इस साल मार्च तक 5 करोड़ रुपये का आंकड़ा पार करने की उम्मीद की !

ऐसे की उन्होंने अपनी शुरुआत (Kirana Shop Business Ideas Vaibhav Agrawal )

वैभव ने 2013 में इंजीनियरिंग कालेज में डिग्री पूरी करने के बाद मैसूरु में एक कंपनी में काम करते हुए कुछ महीने बिताए ! खुदरा बाजार वहाँ पूरी तरह से अलग था, उन्होंने रिटेल दुकानों के लिए स्मार्ट स्टोर, विभिन्न उत्पाद मिक्स और चेन सिस्टम को देखा ! फिर कुछ समय बाद वो घर आ गए ! और सहारनपुर की एक कंपनी में सेल्स मैनेजर की पोस्ट पर काम करने लगे ! इसके बाद उन्हें अपने पिता की किराना दुकान में दिलचस्पी आई और स्टार्ट-अप शुरू किया ! इसके बाद वो आगे बढ़ते ही चले गए !

दिल्ली से बिज़नेस मैनेजमेंट की मास्टर डिग्री हासिल की

2014-15 में जब स्टार्ट-अप बाजार में कुछ वृद्धि देखी, तो वैभव ने खुदरा बाजार की गहरी समझ और इससे मिलने वाली चुनौतियों का सामना करने के लिए मास्टर्स इन बिजनेस मैनेजमेंट का कोर्स करने के लिए दिल्ली के एक कॉलेज में प्रवेश लिया ! मन में विचारों को प्रसारित करने के लिए उनके शिक्षकों और संकाय ने आवश्यक मार्गदर्शन और समर्थन दिया ! 2017 में जब वैभव की डिग्री पूरी हो गयी और उसके बाद दिल्ली स्थित एफएमसीजी कंपनी में शामिल हुए ! जहां उन्हें यूपी, दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, उत्तराखंड और इतने पर बाजारों का एक्सपोजर मिला ! अंत में 2018 में, वैभव ने अपने पिता के किराने की दुकान को व्यवस्थित रूप से चलाने का फैसला किया, जो उन्होंने डिग्री के ज्ञान के साथ किया ! ‘कमला स्टोर’ ने धीरे-धीरे लोकप्रियता हासिल की और वैभव ने अपना स्टार्ट-अप लॉन्च करने का फैसला किया ! इस तरह वो अपने काम में सफल हुए !

Advertising
Advertising

5 करोड़ का हुआ फायदा

वैभव अग्रवाल का कहना है कि जनवरी 2022 तक, पूरे भारत के 12 शहरों से 100 किराना स्टोर बनाए ! उनमें से अधिकांश टियर II और टियर III शहरों से संबंधित हैं ! उनका अनुभव बताता है कि किराना व्यवसाय में लोग बदलाव के लिए उत्सुक हैं ! लेकिन ऐसी सेवाएं नहीं पा रहे हैं जो उन्हें मार्गदर्शन, परामर्श वृद्धि को सक्षम करने में मदद करे ! उनका स्टार्ट-अप भी दुकानदारों को सॉफ्टवेयर और एनालिटिक्स प्रदान करने के लिए! एक सभ्य राशि के लिए खरोंच से स्टोर स्थापित करने में मदद करता है ! इसने वित्त वर्ष 2021-2022 में 1 करोड़ रुपये का कारोबार किया ! और मार्च 2023 तक 5 करोड़ रुपये का आंकड़ा पार करने की उम्मीद की !

यह भी जाने :- Small Winter Business Idea : सर्दियों में शुरू करें यह व्यवसाय, कमा सकेंगे हर महीने अच्छी कमाई