IAS Success Story : IAS अफसर बने अभिषेक शर्मा को अंग्रेजी में जवाब देने से लगता था डर, फिर ऐसे पाई सफलता यहां पढ़ें

IAS Success Story of Topper Abhishek Sharma IAS अफसर बने अभिषेक शर्मा को अंग्रेजी में जवाब देने से लगता था डर, फिर ऐसे पाई सफलता यहां पढ़ें : आज हम आपको अपनी इस पोस्ट में आपको ऐसे एक शख्स के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनके हौसले मजबूत थे और उन्होंने किसी भी मुश्किल हालात से हार नहीं मानी ! आज देश की कठिन परीक्षा IAS और IPS समेत सभी बड़ी परीक्षा और इंटरव्यू अंग्रेजी भाषा में आयोजित होती हैं, लेकिन बहुत से लोगों के लिए ये अंग्रेजी ही बेद मुश्किल होती है ! आज हम बात कर रहे हैं UPSC Exam में सफलता हासिल करने वाले अभिषेक शर्मा ( Indian Administrative Service Abhishek Sharma ) के बारे में बताने जा रहे हैं !

IAS Success Story of Topper Abhishek Sharma : IAS अफसर बने अभिषेक शर्मा को अंग्रेजी में जवाब देने से लगता था डर, फिर ऐसे पाई सफलता यहां पढ़ें

IAS Success Story of Topper Abhishek Sharma : IAS अफसर बने अभिषेक शर्मा को अंग्रेजी में जवाब देने से लगता था डर
IAS Success Story of Topper Abhishek Sharma : IAS अफसर बने अभिषेक शर्मा को अंग्रेजी में जवाब देने से लगता था डर

अगर देखा जाए तो हिंदी मीडियम ( Hindi medium ) से पढ़ाई करने वाले लोगों के अंदर अंग्रेजी ( English ) भाषा को लेकर अक्‍सर ही थोड़ी घबराहट और झिझक बनी ही रहती है ! ऐसे में जब बात UPSC जैसी प्रतियोगी परीक्षा ( UPSC competitive exam ) की तैयारी करनी हो तो और मुश्‍किल और बढ़ जाती है ! ऐसा ही कुछ हुआ था जम्‍मू- कश्‍मीर के रहने वाले अभिषेक शर्मा ( IAD Abhishek Sharma ) के साथ ! अभिषेक सिविल सेवा की परीक्षा ( Civil Services Examination ) की तैयारी करने के लिए जब दिल्‍ली आए थे, तो उन्‍होंने भी कुछ ऐसा ही महसूस किया लेकिन वे इससे डरे नहीं, बल्‍कि इससे लड़ते रहे और साल 2007 में उन्‍होंने 69वीं रैंक हासिल की है !

IAS Abhishek Sharma के सफलता की कहानी

अभिषेक ने एक इंटरव्‍यू के दौरान बताया कि वो उस जगह से आते थे, जहां से कोई IAS नहीं बना था ! इसी वजह से उन्होंने सिविल सर्विस एग्जाम ( Civil Services Examination ) क्वालिफाई करने का सपना देखा था !

Indian Administrative Service : दिल्‍ली में शुरू की तैयारी

अभिषेक ( IAD Abhishek Sharma ) आगे बताते हैं कि दिल्ली आकर पहली बार उनका सिविल सर्विस ( Civil Services ) की रियलिटी से सामना हुआ था ! अभिषेक का कहना है कि दिल्ली में उन्होंने एक कोचिंग इंस्टिट्यूट ज्वाइन ( Coaching Institute Join ) किया था, जहां उन्होंने अपनी तैयारी शुरू की !

इंटरव्‍यू में अंग्रेजी से था खौफ

अभिषेक बताते हैं कि वो दो बार मेंस क्लियर ( Mains clear ) कर चुके थे, लेकिन इंटरव्‍यू में फेल हो जाया करते थे ! अभिषेक आगे बताते हैं कि सेकंड अटेम्प्ट ( Second attempt ) के इंटरव्यू में उनके मन में अंग्रेजी भाषा को लेकर खौफ था ! ऐसे में उन्होंने इंटरव्यू के लिए हिंदी माध्यम ( Hindi medium ) को चुना ! वो बताते हैं कि उनको पता था कि वो अंग्रेजी में जवाब नहीं दे सकते थे !

इंटरव्‍यू में हुआ फेल

Indian Administrative Service अभिषेक आगे बताते हैं कि उनका इंटरव्यू काफी अच्छा रहा लेकिन उनके मार्क्स ( Marks ) अच्छे नहीं आए थे, तो इंटरव्यू में कम मार्क्स के चलते ही उनका फाइनल सिलेक्शन ( Final selection ) नहीं हो पाया था ! इसके बाद उन्होंने तीसरा अटेंप्ट ( Third attempt ) में किया ! हालांकि, इस बार उन्होंने फ्री माइंडसेट ( Free mindset ) के साथ एग्जाम दिए !

2007 में मिली सफलता

IAS Success Story of Topper Abhishek Sharma अभिषेक शर्मा ने आखिर में बताया कि साल 2007 में उनको सफलता हासिल हुई ! अभिषेक आहगे बताते हैं कि तीसरे प्रयास ( Third attempt ) में उन्होंने बहुत ही नॉर्मल तरीके ( Normal way ) से इंटरव्यू दिया उनसे काफी मुश्किल सवाल पूछे गए ! वो बताते हैं कि उन्हों ने उन्होंने अपने अच्छे एक्सपीरियंस का अच्छे से इस्तेमाल किया !

यह भी पढ़ें:- IAS Success Story : पिता करते थे सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी, बेटे ने IAS बन किया नाम रोशन
IAS Success Story : इंग्लिश न आने पर कॉलेज में उड़ाया गया मजाक, सुरभि गौतम ने पहले अटेंप्ट में पाई 50वीं रैंक
IAS Officer Success Story In Hindi – सफ़ल IAS अफ़सर कहानी हिंदी में
Advertisement