IAS Success Story : कहानी सीरत फातिमा की जो प्राइमरी टीचर से बनी IAS अफसर, यहां पढ़ें उनकी सफलता की कहानी

IAS Success Story of Topper Seerat Fatima कहानी सीरत फातिमा की जो प्राइमरी टीचर से बनी IAS अफसर, यहां पढ़ें उनकी सफलता की कहानी : देश की सबसे कठिन परीक्षा UPSC यानी संघ लोक सेवा आयोग (Union Public Service Commission) के लिए हर साल देश में लगभग 10 लाख लोग आवेदन करते हैं, जिसमें से लगभग 1 हजार सेलेक्ट होते हैं ! देश की सबसे मुश्किल परीक्षाओं में शुमार इस UPSC Exam को क्लीयर करने वाली हर हस्ती की अपनी एक कहानी है !

IAS Success Story of Topper Seerat Fatima : कहानी सीरत फातिमा की जो प्राइमरी टीचर से बनी IAS अफसर, यहां पढ़ें उनकी सफलता की कहानी

IAS Success Story of Topper Seerat Fatima : कहानी सीरत फातिमा की जो प्राइमरी टीचर से बनी IAS अफसर
IAS Success Story of Topper Seerat Fatima : कहानी सीरत फातिमा की जो प्राइमरी टीचर से बनी IAS अफसर

UPSC Exam को क्लियर करने वाले आप हर दिन एक ऐसी लोगों की कहानी सुनते को मिलती है, जिसने हर कठिन परिस्थितियों से लड़कर अपने फील्ड में कामयाबी हासिल करते हैं ! वहीं आप हर दिन हमारी साइट पर एक ऐसी हस्तियों की प्रेरणादायक कहानियों को पढ़ते हैं, जिन्होंने विषम परिस्थितियों से लड़कर अपने फील्ड में कामयाबी हासिल कर सभी के लिए मिसाल कायम की ! आपको ये जानकार हैरानी होगी कि UPSC यानी संघ लोक सेवा आयोग ( Union Public Service Commission ) के लिए हर साल लगभग 10 लाख आवेदन किए जाते हैं !

IAS Seerat Fatima के सफलता की कहानी

वहीं इसमें से लगभग 1 हजार सेलेक्ट होते हैं ! देश की सबसे मुश्किल परीक्षाओं ( Difficult examinations ) में शुमार इस एग्जाम को क्लीयर ( UPSC Exam Clear ) करने वाली हर हस्ती की अपनी एक कहानी होती है ! आज भी हम आपको एक ऐसी ही लड़की के बारे में बताने जा रहे हैं, जो एक समय पर प्राइमरी टीचर रहीं और अब IAS अफसर बन चुकी हैं ! उनका नाम सीरत फातिमा ( IAS Seerat Fatima ) से ! वे साल 2017 में चौथे अटेंप्ट 810वीं रैंक ( Fourth Attendant 810th Rank ) हासिल कर IAS अफसर बनीं !

सीरत प्राइमरी टीचर थी

सीरत फातिमा ( IAS Seerat Fatima ) मूल रूप से इलाहाबाद के जसरा के पवर गांव की निवासी हैं ! उन्होंने तीन असफल कोशिशों के बावजूद चौथी बार में यूपीएससी एग्जाम ( UPSC Exam ) पास किया ! चार भाई-बहनों में सबसे बड़ी सीरत प्राइमरी टीचर ( Sairat Primary Teacher ) थीं ! अपने इंटरव्यू के दौरान सीरत फातिमा बताया कि उन्होंने पहले अपने UPSC के दो अटेंप्ट अपने टीचर ट्रेनिंग के दौरान दिए ! इसके बाद तीसरे प्रयास में बेहद मेहनत की और साल 2016 में प्रीलिम्स और मेन्स ( UPSC Prelims and mains ) की परीक्षा पास कर इंटरव्यू तक पहुंची !

नौकरी की वजह से नहीं जा पाई दिल्ली

सीरत फातिमा ( IAS Seerat Fatima ) बताती हैं कि लेकिन फिर भी वो छह मार्क्स से चूक गईं, लेकिन हिम्मत उन्होंने फिर भी कभी हार नहीं मानी ! 18 दिन बाद ही उन्होंने फिर अगली प्रीलिम्स परीक्षा ( Prelims exam ) थी ! इस दौरान वे प्रेशर में तो थी पर पिता ने हिम्मत बंधाई और पिता ने इस बारे में कहा हिम्मत देते हुए बस इतना कहा, कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती और इसके बाद वे लगातार मेहनत करती रहीं ! सीरत बताती हैं कि वो अपने तैयारी के लिए नौकरी भी नहीं छोड़ सकती थीं, क्योंकि फैमिली को सपोर्ट करना था ! नौकरी की वजह से घर पर ही रही ! दिल्ली की कोचिंग से भी तैयारी नहीं कर पाई !

साल 2017 में पाया कड़ी मेहनत का फल

IAS Success Story of Topper Seerat Fatima वो कहती हैं कि किसी ने सच ही कहा है कि मेहनत का फल मीठा ही होता है ! उनको भी अपनी मेहनत का नतीजा साल 2017 में मिला और वे IAS अफसर बन गई ! फिलहाल वे इंडियन एंड ट्रैफिक सर्विस ( Indian and Traffic Service ) में अपनी सेवा दे रही हैं ! साथ ही वे बताती हैं कि बच्चा अगर अपने लिए माता-पिता के मन के ख्वाब को जान ले तो पूरा करने में जान लगा देता है ! सीरत ने भी ऐसा ही किया ! पेशे से पटवारी सीरत के पिता जब अपने आगे बड़े-बड़े अधिकारी को देखते तो मन ही मन चाहते उनका बच्चा भी अधिकारी बने ! पिता ने ही कुछ बड़ा करने की हिम्मत दी थी !

यह भी पढ़ें:- IAS Success Story : ऑटो ड्राइवर के बेटे ने 21 साल की उम्र में UPSC किया पास और बने IAS अफसर, यहां पढ़ें सफलता की कहानी
IAS Success Story : पिता करते थे सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी, बेटे ने IAS बन किया नाम रोशन
IAS Success Story : इंग्लिश न आने पर कॉलेज में उड़ाया गया मजाक, सुरभि गौतम ने पहले अटेंप्ट में पाई 50वीं रैंक
Advertisement