IAS Success Story : पिता करते थे सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी, बेटे ने IAS बन किया नाम रोशन

IAS Success Story of Topper Kuldeep Dwivedi पिता करते थे सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी, बेटे IAS बन किया नाम रोशन : हम हर दिन आपको ऐसे IAS ( Indian Administrative Service ) अफसरों के सफलता और उस सफलता को किसी तरह के संघर्ष को पार कर के पाया है ऐसी कहानियों के बारे में बताते हैं ! आप हर दिन हमारे पोस्ट पर संघर्ष से सफल होने की प्रेरना दायक कहानियों पढ़ते हैं ! इसी कड़ी में आज हम आपको साल 2015 में यूपीएससी ( UPSC ) द्वारा आयोजित की गई सिविल सेवा परीक्षा ( Civil Services Examination ) में 242वीं रैंक हासिल करने वाले कुलदीप द्विवेदी ( IRS Kuldeep Dwivedi ) के बारे में बताने जा रहे हैं !

IAS Success Story of Topper Kuldeep Dwivedi : पिता करते थे सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी, बेटे IAS बन किया नाम रोशन

IAS Success Story of Kuldeep Dwivedi

IAS Success Story of Kuldeep Dwivedi

इतना ही नहीं आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कुलदीप (UPSC IRS Kuldeep Dwivedi ) के पिता यूनिवर्सिटी ( University ) में सिक्‍योरिटी गार्ड ( Security guard ) की नौकरी किया करते थे ! अपने एक इंटरव्यू के दौरान कुलदीप ने बताया था कि उनके चार भाई-बहन हैं ! वो बताते हैं कि पिता की सिक्‍योरिटी गार्ड ( Security guard ) की नौकरी करते हुए परिवार का पालन-पोषण करना काफी मुश्किल हुआ करता था ! कुलदीप बताते हैं कि कई बार ऐसे हुआ करता था कि ऐसे में भरपेट खाना तक नहीं मिल पाता था !

IRS Kuldeep Dwivedi के सफलता की कहानी

ऐसे हालात में कुलदीप ने खुद और अपने परिवार को बेहद ही संघर्षों के आगे बढ़ा और अपनी पढ़ाई पूरी कर एक सफल अफसर बनके दिखाया है ! कुलदीप ( Kuldeep Dwivedi ) लखनऊ के रहने वाले हैं ! उनके पिता सूर्यकांत द्विवेदी ( Suryakant Dwivedi ) लखनऊ विश्वविद्यालय ( Lucknow University ) में सुरक्षा गार्ड ( Security guard ) के तौर पर काम किया करते थे ! कुलदीप बताते हैं कि उस दौर में उनके पिता को तब 11 सौ रुपये सैलरी मिला करती थी ! ऐसे में बेहद ही मुश्किलों से परिवार का गुजारा हुआ करता था और जब ये बच्चे बड़े होने लगे तो उनकी एजुकेशन की टेंशन पिता को और सचाने लगी !

गुजारे के लिए खेतों में किया काम

कुलदीप द्विवेदी ( IAS Kuldeep Dwivedi ) ने इंटरव्यू के दौरान बताया कि उनके पिता ने बच्‍चों को पढ़ाने के लिए गार्ड की नौकरी के साथ-साथ खेतों में भी काम किया ! वो दिन-रात मेहनत किया करते थे और इसी तरह से उन्‍होंने परिवार को पालने के साथ-साथ अपने चारों बच्‍चों की पढ़ाई-लिखाई पूरी कराई, जो आज के समय में अच्छे मुकाम पर पहुंच चुके हैं और ये उनके पिता के लिए बेहद खुशी की बात है !

ऐसे शुरू की UPSC की तैयारी

आपको बता दें कि कुलदीप द्विवदी ( Kuldeep Dwivedi ) ने साल 2009 में इलाहाबाद विश्वविद्यालय ( University of Allahabad ) से अपनी स्नातक ( graduate ) को पूरा किया था ! इसके बाद साल 2011 में उन्होंने अपना पोस्‍टग्रेजुएट ( post graduation ) पूरा किया ! कुलदीप बताते हैं कि अपनी पोस्‍टग्रेजुएट पूरी करने के बाद उन्होंने एग्‍जाम ( Exam ) की तैयारी शुरू कर दी ! इलाहाबाद में रहकर उन्‍होंने UPSC Exam की तैयारी शुरू कर दी थी ! साथ ही उन्होंने बताया कि इस दौरान उनके पास मोबाइल नहीं था ! वो पीसीओ ( PCO ) से अपने घर पर फोन कर उनका हाल-चाल पूछा करते थे !

पहले प्रयास में मिली सफलता

IAS Success Story of Topper Kuldeep Dwivedi कुलदीप द्विवेदी ( IAS Kuldeep Dwivedi ) बताते हैं कि उनको याद है कि साल 2015 में उनको अपनी इस मेहनत का फल मिला और उन्होंने Indian Administrative Service Exam दिया था और पहली बार में ही इसे क्‍वालीफाई ( Qualify ) कर लिया थ ! खास बात ये है कि उन्‍होंने एग्जाम में 242वीं रैंक हासिल की थी ! रैंक के हिसाब से उन्‍हें IRS मिला और अगस्त साल 2016 में नागपुर में उनकी ट्रेनिंग शुरू हुई और ट्रेनिंग के बाद कुलदीप की पहली पोस्टिंग असिस्टेंट ( Posting assistant ) कमिश्‍नर इनकम टैक्स ऑफिसर ( Commissioner Income Tax Officer ) की पोस्ट पर हुई और वो इस बात को लेकर भी काफी खुश हैं !