UPSC IAS Success Story : नौकरी के साथ की सेल्फ स्टडी और 15 दिन की तैयारी से बन गया IAS अफसर

UPSC Success Story of IAS Alok Singh नौकरी के साथ की सेल्फ स्टडी और 15 दिन की तैयारी से बन गया IAS अफसर : आज हम एक ऐसे शख्स के बारे में बात करने जा रहे हैं, जिन्होंने अपना सपना पूरा करने किए नौकरी और पढ़ाई साथ में की, क्योंकि दोनों ही चीजें इनके लिए बेहद जरूर है। इतनी मेहनत का फल भी मिला है इनको इसका फल भी मिला। आज ये एक अफसर की कुर्सी पर तैनात हैं। इन का नाम है Indian Administrative Service IAS अफसर आलोक सिंह। आलोक को पढ़ाई पूरी करने के बाद कैसे भी करके नौकरी मिली।

नौकरी के साथ की सेल्फ स्टडी और 15 दिन की तैयारी से बन गया IAS अफसर

नौकरी के साथ की सेल्फ स्टडी और 15 दिन की तैयारी से बन गया IAS अफसर

नौकरी के साथ की सेल्फ स्टडी और 15 दिन की तैयारी से बन गया IAS अफसर

इसके बाद आलोक ने साल 2014 में मैकेनिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद नौकरी करना शुरू कर दिया था। उस दौरान वो झारखंड के बोकारो में स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया में जूनियर मैनेजर के तौर पर काम किया करते थे। इसके बाद आलोक साल 2018 में ईपीएफओ में जुड़े। एक साल काम करने के दौरान ही आलोक का सेलेक्शन UPSC की तरफ मुड़ गया। अपने बारे में बात करते हुए आलोक ने बताया कि उनकी पहली जॉब के दौरान उन्हें वहां के ट्राइबल लोगों के साथ जुड़ने का मौका मिला।

UPSC Success Story of IAS Alok Singh

उनसे बात करने के दौरान आलोक को लगा कि इन लोगों के लिए या फिर सोसाइटी के लिए कुछ करना चाहिए। ट्राइबल लोगों के साथ काम करने के दौरान उन्हें लगा कि वो IAS बनने के बाद इनकी मदद कर सकेंगे। ऐसे में उनके मन में UPSC की तैयारी करने का ख्याल आया। तभी से मेरी UPSC की तैयारी के सफर की शुरुआत हुई। आलोक आगे बताती हैं कि वो नौकरी छोड़कर सिर्फ पढ़ाई पर फोकस नहीं कर सकते थे। ऐसे में उन्होंने EPFO का एग्जाम दिया, जिसे Union Public Service Commission द्वारा ही आयोजित किया जाता है।

आलोक ने UPSC की तैयारी के लिए ली 15 दिन की छुट्टी

खास बात तो यह थी कि इस जॉब के दौरान ही आलोक को UPSC में सफलता हासिल हुई और उससे बड़ी खास बात यह कि आलोक ने बिना कोचिंग की मदद लिए खुद ही सेल्फ स्टडी के जरिए इस सफलता को हासिल किया। आलोक ने बताया कि प्रीलिम्स के दौरान उन्होंने 15 दिन की छुट्टी लेकर पढ़ाई की, जबकि मेन्स के दौरान उन्होंने दो महीने की छुट्टी ली थी। इतना ही नहीं आलोक को ये सफलता पहली बार में नहीं बल्कि तीसरे प्रयार में हासिल हुई। पहली बार आलोक ने UPSC की परीक्षा साल 2016 में दी थी, लेकिन उस वक्त आलोक प्रीलिम्स परीक्षा को पास नहीं कर पाए थे।

UPSC की परीक्षा में आलोक सिंह ने 628वीं रैंक हासिल की

Indian Administrative Service वहीं दूसरे अटैम्प्ट के दौरान आलोक मेन्स क्लीयर नहीं कर पाए, जिसके बाद आलोक ने अपने तीसरे प्रयार में सफलता हासिल की। आलोक अपनी जॉब के साथ-साथ पढ़ाई भी करते थे। इस बारे में बात करते हुए आलोक बताते हैं कि पहले जॉब में उन्हें 12 से 13 घंटे तक काम करना पड़ता, जिसकी वजह से पढ़ाई और जॉब को मैनेज करना काफी मुश्किल होता था। देश के सबसे मुश्किल परीक्षा में से एक UPSC की परीक्षा में आलोक सिंह ने 628वीं रैंक हासिल की।

आलोक ने साल 2018 में हालिस की जीत, बने अफसर

बता दें कि आलोक को ये तीसरे प्रयार में सफलता हासिल की। इस परीक्षा में उन्हें ये सफलता साल 2018 में मिली है। आलोक दूसरे छात्रों को सलाह देते हैं कि इस परीक्षा के लिए कुछ चीजें आपको खुद तय करनी होती है। जैसे खुद से सोर्स तैयार करना और खास स्ट्रेटजी बनना आदि। उन्होंने आगे बताया कि मेरे पास इतना वक्त नहीं था, ऐसे में मैं खास दोस्त के साथ मिलकर पढ़ाई करता और किसी भी टॉपिक के लिए सोर्स खुद तय करता था।

UPSC Exam Calendar 2022 : यूपीएससी परीक्षा कैलेंडर जारी, देंखे एग्जाम डेट

IAS Success Story : किसान का बेटा दिन रात मेहनत कर IAS अफसर बन अपने परिवार को किया गौरवांकित

UPSC Success Story Of IAS sweta Agrawal : मनपसंद रैंक के लिए तीन बार दी UPSC IAS की परीक्षा