Chanakya Niti : चाणक्य के अनुसार ये 2 गुण है इंसान लिए रामबाण, दुश्मन को भी बना देते हैं दोस्त

Chanakya Niti चाणक्य के अनुसार ये 2 गुण है इंसान लिए रामबाण, दुश्मन को भी बना देते हैं दोस्त : महान ज्ञाता चाणक्य प्राचीन भारतीय शिक्षक, दार्शनिक, अर्थशास्त्री, न्यायविद और शाही सलाहकार कहे जाते थे ! वो चन्द्रगुप्त मौर्य के महामंत्री थे ! इतना ही नहीं उन्हें पारंपरिक रूप से काऊल्या या विष्णुगुप्त के रूप में भी पहचाना जाता है, जिन्होंने प्राचीन भारतीय राजनीतिक ग्रंथ, अर्थशास्त्र को अपने हाथों से लिखा है, जो कि तीसरी शताब्दी ईसा पूर्व और तीसरी शताब्दी ईस्वी के बीच मोटे तौर पर एक पाठ था !

Chanakya Niti : चाणक्य के अनुसार ये 2 गुण है इंसान लिए रामबाण, दुश्मन को भी बना देते हैं दोस्त

Chanakya Niti : चाणक्य के अनुसार ये 2 गुण है इंसान लिए रामबाण
Chanakya Niti : चाणक्य के अनुसार ये 2 गुण है इंसान लिए रामबाण

साथ ही उन्होंने अपनी नीतियां लिखी, जिसमें कई ऐसी खास बातों का वर्णन किया है ! साथ ही चाणक्य की गिनती श्रेष्ठ विद्वानों में की जाती है ! चाणक्य की शिक्षाएं आज भी काफी लोगों के लिए उपयोगी और प्रासंगिक साबित होती हैं ! यही कारण है कि आज भी काफी बड़ी संख्या में लोग चाणक्य की नीति को पढ़ते और उनके ज्ञान को समझते और उस पर अमल करते हैं और उनके बताएं मार्गों पर चलने की कोशिश करते हैं !

2 गुण है इंसान लिए बने रामबाण

Chanakya Niti इसके अलावा इंसान के जीवन को बेहतर बनाने के लिए अर्थशास्त्र के महान ज्ञाता रहे आचार्य चाणक्य ने अपने नीति ग्रंथ में कई बातों के बारे में बताया है कि कैसे इंसान अपने जीवन को बदला जा सकता है ! साथ ही बताया जाता है कि चाणक्य की नीतियों को तो आम इंसानों से लकरे राजा-महाराजाओं तक ने भी अपनाया और अपने राजपाट को कुशलता से आगे बढ़ाया है !

इतना ही नहीं इस नीति ग्रंथ में चाणक्य ने इंसान के जीवन, मृत्यु, दोस्त, दुश्मन, अच्छे और बुरे समेत कई दूसरी बातों से जुड़ी समस्याओं के हल निकाला है ! इसके साथ ही अपने नीति ग्रंथ यानी चाणक्य नीति में उन्होंने ऐसी दो चीजों के बारे में बताया, जिसकी मदद से इंसान अपने दुश्मन को भी दोस्त बना सकता है ! इन दो गुणों से इंसान को सफलता पाने में भी काफी मदद मिलती है !

1). सत्य वचन

सबसे पहला गुण होता है सच बोलने का ! महान ज्ञाता चाणक्य के अनुसार अगर इंसान अपने जीवन में सफल होना चाहता है, तो उसको कभी झूठ नहीं बोलना चाहिए और हमेशा सच का साथ देना चाहिए ! इसके अलावा वो कहते हैं कि झूठ के सहारे पाई गई सफलता का अहसास हमेशा दिल को जवीनभर इस बात को लेकर ठेस पहुंता रहता है कि आपने ये सब झूठ बोल कर हासिल किया है ! साथ ही झूठ बोलने से इंसान की प्रतिभा का भी नाश होता है !

इससे समाज में उनके मान-सम्मान की कोई कीमत नहीं रह जाती ! इतना ही नहीं उस इंसान से अपने लोग भी दूरी बनाने लगते हैं ! वहीं सच बोलने वाला इंसान का मन साफ होता है और इससी से वो सफलता की सीढ़ियां चढ़ता रहता है और समाज में उसका मान-सम्मान भी दिन पर दिन बढ़ता रहता है ! साथ ही उसके दुश्मन भी इस आदत को जानकर उसके दोस्त बन जाते हैं !

2). विनम्र स्वभाव

Chanakya Niti इसके अलावा चाणक्य कहते हैं कि इंसान का स्वभाव विनम्रता से भरा होना चाहिए ! विनम्र इंसान हमेशा लोगों के पसंद आते हैं ! लोग उन्हें प्यार करते हैं ! विनम्र स्वभाव के इंसान को गुस्सा नहीं आता और वो हर काम को अपने धैर्य के साथ करता है और अपने सहज स्वभाव से दुश्मन को भी दोस्त बना लेता है !

यह भी पढ़ें:- Chanakya Niti : चाणक्य के अनुसार ऐसे लोगों के पास नहीं रूकती है लक्ष्मी, हमेशा रहती है धन की कमी
Advertisement