Chanakya Niti : चाणक्य के अनुसार नौकरी और बिजनेस में जब आने लगें अड़चनें, तो इन 4 बातों को रखें याद

Chanakya Niti चाणक्य के अनुसार नौकरी और बिजनेस में जब आने लगें अड़चनें, तो इन 4 बातों को रखें याद : महान ज्ञाता चाणक्य ने अपनी नीतियां लिखी, जिसमें कई ऐसी खास बातों का वर्णन किया है ! साथ ही चाणक्य की गिनती श्रेष्ठ विद्वानों में की जाती है ! चाणक्य की शिक्षाएं आज भी काफी लोगों के लिए उपयोगी और प्रासंगिक साबित होती हैं ! यही कारण है कि आज भी काफी बड़ी संख्या में लोग चाणक्य की नीति को पढ़ते और उनके ज्ञान को समझते और उस पर अमल करते हैं और उनके बताएं मार्गों पर चलने की कोशिश करते हैं !

Chanakya Niti : चाणक्य के अनुसार नौकरी और बिजनेस में जब आने लगें अड़चनें, तो इन 4 बातों को रखें याद

Chanakya Niti : चाणक्य के अनुसार नौकरी और बिजनेस में जब आने लगें अड़चनें, तो इन 4 बातों को रखें याद
Chanakya Niti : चाणक्य के अनुसार नौकरी और बिजनेस में जब आने लगें अड़चनें, तो इन 4 बातों को रखें याद

चाणक्य प्राचीन भारतीय शिक्षक, दार्शनिक, अर्थशास्त्री, न्यायविद और शाही सलाहकार कहे जाते थे ! वो चन्द्रगुप्त मौर्य के महामंत्री थे ! इतना ही नहीं उन्हें पारंपरिक रूप से काऊल्या या विष्णुगुप्त के रूप में भी पहचाना जाता है, जिन्होंने प्राचीन भारतीय राजनीतिक ग्रंथ, अर्थशास्त्र को अपने हाथों से लिखा है, जो कि तीसरी शताब्दी ईसा पूर्व और तीसरी शताब्दी ईस्वी के बीच मोटे तौर पर एक पाठ था !

Chanakya Niti : नौकरी और बिजनेस में आएं अड़चने को करें ये काम

इतना ही नहीं चाणक्य ने जीवन के कई पहलुओं से जुड़ी समस्याओं को आपनी नीति शास्त्र में हल बताया है ! चाणक्य ने अपनी नीति में लिखा है कि इंसान के सामने जब संकट आ जाए और कोई बाहर निकलने का रास्ता नजर न आए तो वो इन बातों को याद कर और समझ सकता है !

चाणक्य की नीति में लिखी हैं ये बातें | Chanakya Niti

1). हिम्मत कभी न हारें – चाणक्य ने लिखा है कि बुरा वक्त हर किसी के जीवन में आता है, लेकिन जो बुरे वक्त में हिम्मत नहीं हारते हैं और उन सभी मुश्किलों का डटकर मुकाबला करते हैं ! वे लोग ही याद रखे जाते हैं ! चाणक्य कहते हैं कि कितना ही बुरा समय क्यों न आ जाए इंसान कभी हिम्मत नहीं हारनी चाहिए !

2). शत्रु जब सक्रिय हो जाएं – चाणक्य ने अपनी नीति में लिखा है कि जब दुश्मन सक्रिय हो जाएं तो इंसान को शांत मन से अपनी रणनीति पर काम करना चाहिए ! वो बताते हैं कि कई बार क्रिया की प्रतिक्रिया हानि पहुंचा देती है ! इसलिए समय का इंतजार करने में इंसान की भलाई छूपी होती है ! इसलिए दुश्मन जब शक्तिशाली हो तो छिपकर रणनीति बनानी चाहिए और सही समय देख कर उस पर चोट करनी चाहिए !

3). गलतफहमी न आनें दें – चाणक्य अगली बात में कहते हैं कि कई बार गलतफहमी के चलते आपसी संबंध प्रभावित होने लगते हैं ! सबसं पहले किसी भी रिश्ते मे गलतफहमी के लिए कोई गुंजाइश नहीं होनी चाहिए ! गलत फहमी को दूर करने के लिए हमेशा बात करनी चाहिए ! इससे रिश्ते मजबूत बनेंगे !

4). परिश्रम करते रहना चाहिए – आखिर में चाणक्य अपनी नीति में लिखते हैं कि इंसान को हमशा मेहमत करते रहना चाहिए ! मेहनत में ही इंसान की सफलता का राज छिपा है, जो लोग मेहनत नहीं करते हैं और आलस से घिरे रहते हैं और उनको हमेशा परेशानियों को सामना करना पड़ता है ! आज के काम को कल पर कभी नहीं टालना चाहिए ! Chanakya Niti.

यह भी पढ़ें:- Chanakya Niti : चाणक्य के अनुसार ऐसे लोग कहलाते हैं मूर्ख, नहीं मिलता है सम्मान
Advertisement