Chanakya Niti : चाणक्य के अनुसार इस तरह के लोग जिंदगी भर रहते हैं दुखी, आती रहती हैं समस्याएं

Chanakya Niti चाणक्य के अनुसार इस तरह के लोग जिंदगी भर रहते हैं दुखी, आती रहती हैं समस्याएं : महान ज्ञाता चाणक्य प्राचीन भारतीय शिक्षक, दार्शनिक, अर्थशास्त्री, न्यायविद और शाही सलाहकार कहे जाते थे ! वो चन्द्रगुप्त मौर्य के महामंत्री थे ! इतना ही नहीं उन्हें पारंपरिक रूप से काऊल्या या विष्णुगुप्त के रूप में भी पहचाना जाता है, जिन्होंने प्राचीन भारतीय राजनीतिक ग्रंथ, अर्थशास्त्र को अपने हाथों से लिखा है, जो कि तीसरी शताब्दी ईसा पूर्व और तीसरी शताब्दी ईस्वी के बीच मोटे तौर पर एक पाठ था !

Chanakya Niti : चाणक्य के अनुसार इस तरह के लोग जिंदगी भर रहते हैं दुखी, आती रहती हैं समस्याएं

Chanakya Niti : चाणक्य के अनुसार इस तरह के लोग जिंदगी भर रहते हैं दुखी, आती रहती हैं समस्याएं
Chanakya Niti : चाणक्य के अनुसार इस तरह के लोग जिंदगी भर रहते हैं दुखी, आती रहती हैं समस्याएं

इतना नहीं उन्होंने जीवन को बेहतर और सफल बनाने के लिए कई नीतियां लिखी और बताई हैं और चाणक्य की इन्हीं नीतियों को तो आम इंसानों से लकरे राजा-महाराजाओं तक ने भी अपनाया और अपने राजपाट को कुशलता से आगे बढ़ाया है ! यही कारण है कि आज भी काफी बड़ी संख्या में लोग चाणक्य की नीति को पढ़ते और उनके ज्ञान को समझते और उस पर अमल करते हैं और उनके बताएं मार्गों पर चलने की कोशिश करते हैं !

इस तरह के लोग जिंदगी भर रहते हैं दुखी

इसके अलावा इंसान के जीवन को बेहतर बनाने के लिए अर्थशास्त्र के महान ज्ञाता रहे आचार्य चाणक्य ने अपने नीति ग्रंथ में कई बातों के बारे में बताया है कि कैसे इंसान अपने जीवन को बदला जा सकता है ! चाणक्य ने यह भी बताया है कि कौन लोग ऐसे हैं जो दुख में ही जिंदगी बिता देते हैं, तो चलिए आपको बताते हैं कि किस तरह के इंसान जीवनभर रहते हैं दुखी, धन-संपदा होने के बावजूद भी नहीं रह पाते हैं खुश !

1). कर्ज लेने वाला

चाणक्य कहते हैं कि एक कर्ज लेने वाला इंसान अपनी पूरी जिंदगी में ज्यादा खुशी महसूस नहीं कर सकता है, क्योंकि उसको हमेशा कर्ज के पैसे लौटाने की चिंता सताती रहती हैं, जिससे उनकी निंद खराब होती है और निंद खराब होने से विचार खराब हो जाते हैं ! साथ ही चिंता के कारण ऐसे इंसान को शारीरिक समस्याओं का भी सामना करना पड़ता है ! इसलिए चाणक्य नीति की माने तो कर्ज लेने वाला इंसान जीवन में कभी खुश नहीं रह सकता है !

2). Chanakya Niti : अपनों को खोने वाला

हम सभी के जीवन में सबसे अहम लोगों हमारे अपने ही होते हैं, जो परेशानी के समय में हमारे साथ आकर खड़े हो जाते हैं ! हर इंसान की जिंदगी में ऐसे कुछ लोग जरूर होते हैं, जो उससे बहुत ज्यादा प्यार करते हैं ! इसके लिए चाणक्य कहते हैं कि जब कोई इंसान अपने सच्चे रिश्तों को खो देता है, तो वह ज्यादा दिन खुश नहीं रह सकता ! वह अपनों के साथ बिताए अच्छे पलों को यादकर दुखी होता रहता है और जीवन में आगे बढ़ना भूल जाता है !

3). छोटी उम्र में ज्यादा समझदार

इसके अलावा चाणक्य कहते हैं कि इंसान का समझदार होना बेहज ज्यादा जरूरी होता है, लेकिन जो इंसान कम उम्र में ज्यादा समझदार हो जाते हैं ! वो अफनी जिंदगी में ज्यादा दुखी रहते हैं, क्योंकि कम उम्र में ज्यादा समझदार होने से कई बार दुनिया पर और उसमें रहने वाले लोगों पर से जल्दी भरोसा उठ जाता है ! इन लोगों को छोटी उम्र में ही रिश्ते-नातों और दुनियादारी की समझ हो जाती है !

4). परखने में कमजोर

Chanakya Niti आखिर में चाणक्य कहते हैं कि जो लोग दूसरों को परखने में कमजोर होते हैं ! वो अक्सर अपनी जवन में दुखी रहते हैं ! ऐसे लोगों को हर काम के समय या कोई फैसला लेते समय संभल-संभलकर कदम रखना पड़ता है, क्योंकि इन्हें विश्वासघात का ज्यादा डर रहता है ! इसलिए जो लोग जीवन में अच्छे और बुरे लोगों को परख नहीं पाते हैं ! वह जीवन में ज्यादा दुखी रहते हैं ! साथ ही चाणक्य कहते हैं कि ऐसे लोग दूसरों की बातों पर जल्दी भरोसा कर लेते हैं !

यह भी पढ़ें:- Chanakya Niti : चाणक्य के अनुसार ये 2 गुण है इंसान लिए रामबाण, दुश्मन को भी बना देते हैं दोस्त
Advertisement