Best Return Guaranteed Income : म्यूचुअल फंड से हर महीने गारंटीड इनकम मिलेगी, SWP कैसे काम करता है

Best Return Guaranteed Income :  एसडब्ल्यूपी (Systematic Withdrawal Plan) क्या है और यह कैसे काम करता है: आपने अक्सर विशेषज्ञों को यह कहते हुए सुना होगा कि यदि आप दीर्घकालिक वित्तीय नियोजन करना चाहते हैं, तो म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) एक बेहतर विकल्प है ! यहां इक्विटी की तुलना में सुरक्षा और छोटी बचत योजना की तुलना में अधिक रिटर्न है ! म्यूचुअल फंड (Mutual Fund)  केवल लंबी अवधि में आपके धन में वृद्धि करते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि इसके माध्यम से आप मासिक और गारंटीकृत आय की व्यवस्था भी कर सकते हैं ! हां, आप म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में अपने निवेश से नियमित आय भी अर्जित कर सकते हैं ! इसके लिए, आपको प्रणालीगत निकासी योजना को चुनना होगा ! जानिए क्या है SWP

Best Return Guaranteed Income : म्यूचुअल फंड से हर महीने गारंटीड इनकम मिलेगी, SWP कैसे काम करता है

Best Return Guaranteed Income
Best Return Guaranteed Income

नियमित आय के साधन व्यवस्थित निकासी योजनाएं आपके लिए म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में नियमित आय का स्रोत बन सकती हैं ! यह उन लोगों के लिए एक विशेष रूप से अच्छा विकल्प है जो नौकरी से रिटायर होते हैं ! या जिन्हें हर महीने कुछ अतिरिक्त आय की आवश्यकता होती है !  एसडब्ल्यूपी (Systematic Withdrawal Plan) इसमें निवेशक खुद अपनी जरूरतों के हिसाब से एक निश्चित तारीख चुनता है, जिस दिन उसके खाते में पैसा आता है !

SWP कैसे काम करता है?

सिस्टमैटिक विदड्रॉल प्लान एसडब्ल्यूपी (Systematic Withdrawal Plan) के माध्यम से, निवेशकों को म्यूचुअल फंड स्कीम (Mutual Fund scheme) से एक निश्चित राशि वापस मिलती है ! कितने समय में, कितने पैसे निकालने हैं, इसका चुनाव खुद निवेशक करते हैं ! यह पैसा दैनिक, साप्ताहिक, मासिक, त्रैमासिक, 6 महीने या वार्षिक आधार पर निकाला जा सकता है ! वैसे, मासिक विकल्प अधिक लोकप्रिय है ! यदि निवेशक केवल एक निश्चित राशि ही निकालना चाहता है !

म्युचुअल फंड स्कीम (Mutual Fund scheme) से कर की निकासी कैसे संभव है , इसे मोचन माना जाता है और चुनी गई योजना के आधार पर, यह इक्विटी या ऋण पर लागू कर दरों के अनुसार लगाया जाता है ! लेकिन अगर आप ठीक से योजना बनाते हैं, तो आप अपनी निकासी कर को कुशल बना सकते हैं ! डेट फंडों की तरह, यदि आपने अपनी एसडब्ल्यूपी (Systematic Withdrawal Plan) शुरू कर दी है, तो लाभ 36 महीनों के पूरा होने से पहले आपकी आय में जुड़ जाएगा और आपको लागू कर दर पर कर का भुगतान करना होगा ! लेकिन अगर आप जल्दी योजना बनाते हैं, और 36 महीनों के बाद वापस लेना शुरू करते हैं ! तो इससे होने वाले लाभ को लाभ माना जाएगा और प्रेरण के बाद 20% कर लगेगा ! इसलिए, कर के संदर्भ में जल्दी योजना बनाना फायदेमंद है !

SWP अधिक विश्वसनीय विकल्प

BPN Fincap के निदेशक एके निगम का कहना है कि एसडब्ल्यूपी (Systematic Withdrawal Plan) एक विश्वसनीय विकल्प है ! इसमें निवेशक अपने निवेश को अपने दम पर नियंत्रित कर सकता है ! एसडब्ल्यूपी एक नियमित निकासी है जिसके माध्यम से इकाइयों को योजना से भुनाया जाता है ! वहीं, अगर आपके पास तय समय के बाद सरप्लस पैसा है, तो आपको मिल जाता है ! जहां तक ​​कर का सवाल है, तो उस पर कर लगेगा क्योंकि यह इक्विटी और डेट म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) के मामले में है ! जहां होल्डिंग अवधि 12 महीने से अधिक नहीं है, निवेशकों को अल्पकालिक पूंजीगत लाभ कर का भुगतान करना होगा ! अगर आप किसी स्कीम में निवेश कर रहे हैं, तो आप इसमें एसडब्ल्यूपी (Systematic Withdrawal Plan) विकल्प को सक्रिय कर सकते हैं !

यह जानकारी SWP के लिए आवश्यक है कि

आप किस फंड से एसडब्ल्यूपी (Systematic Withdrawal Plan)चलाना चाहते हैं ! स्ट्रेच्ड राशि का SWP चाहते हैं ! आप कब तक SWP चलाना चाहते हैं ! महीने की निर्दिष्ट तारीख को निर्दिष्ट करना आवश्यक है ! ये पैसा आपके फंड से यूनिट बेचकर कमाया जाता है ! अगर फंड खत्म हो जाता है, तो एसडब्ल्यूपी (Systematic Withdrawal Plan) बंद हो जाएगा !एसडब्ल्यूपी और एसआईपी के बीच अंतर एसआईपी में हर महीने निश्चित राशि आपके खाते से काट ली जाती है ! खाते से कटौती की गई राशि म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) में निवेश करने के लिए जाती है ! SWP में निर्धारित राशि आपके बैंक खाते में मिलती है ! एसडब्ल्यूपी (Systematic Withdrawal Plan) राशि म्यूचुअल फंड (Mutual Fund) इकाइयों की बिक्री से आती है !

यह भी जानें : Post Office RD Calculator : डाकघर आरडी कैलकुलेटर मैच्योरिटी पर 69,697 रुपये प्राप्त करने के लिए प्रति माह 1,000 रुपये का निवेश करें

Post Office Great Offers : डाकघर महान प्रस्ताव इस योजना में हर महीने 100 रुपये का निवेश करें, और पांच साल बाद 21 लाख रुपये प्राप्त करें।

Advertisement