अखबार के किनारे पर नीला, पीला, गुलाबी और काले रंग के बिंदु क्यों होते हैं | GK in Hindi

Advertisement

आम जिंदगी में सुबह उठकर चाय के साथ अखबार पढ़ना और देश दुनिया की जानकारी लेना ज्यादा तर लोगों की आदत होती हैं। कई लोगों को सफर में अखबार पढ़ने की आदत होती है। कई लोगों को ऑफिस में काम के साथ-साथ दो चाप मिनट का समय निकाल कर अखबार पढ़ना पसंद आता है और कई लोगों को ऐसे ही टैबल पर अखबार दिख जाए तो वो उसको पढ़ना शुरू कर देते हैं। हम अखबार से कई जानकारी प्राप्त होती है, जो हम अपने जहन में समेट लेते हैं, लेकिन क्या आपने कभी अखबार के किसी ऐसे हिस्से पर गौर किया है जहां आपको करना चाहिए ? क्या कभी आपने अपने अखबार के कौनों को ध्यान से देखै है जहां चार रंग नीला, पीला, गुलाबी और काले के बिंदु होते हैं ? अगर देखा भी है तो कभी ये जानने या समझने की कोशिश की है आखिर ये क्यों होते हैं ?

Advertisement

अखबार के किनारे पर नीला, पीला, गुलाबी और काले रंग के बिंदु क्यों होते हैं ?

अखबार के किनारे पर नीला, पीला, गुलाबी और काले रंग के बिंदु क्यों होते हैं ?
अखबार के किनारे पर नीला, पीला, गुलाबी और काले रंग के बिंदु क्यों होते हैं ?

नहीं! तो चलिए आज हम आपको बताते हैं कि अखबार के किनारे पर नीला, पीला, गुलाबी और काले रंग के बिंदु क्यों होते हैं ? पहले के समय में अखबारों को केवल ब्लैक एंड व्हाइट में ही प्रिंट किया जाता था। बढ़ते और विकसित होते हुए समय के साथ इसमें कई बदलाव किए गए। अब अखबारों में विज्ञापन, कुछ रंगीन फोटो आदि छापे जाने लगे। इसके साथ ही अखबार के किनारे पर चार अलग-अलग रंग के बिंदु भी छापे जाने लगे, जिन पर किसी की नजर पड़ती नहीं। इतना ही नहीं हर अखबार के हिसाब से इन बिंदुओं के आकार भी अलग-अलग होते हैं। कई बिंदु की तरह ही नजर आते हैं, तो कई दिल के आकार में होते हैं, तो कई त्रिकोण होते हैं।

क्या हैं इन बिंदुओं का राज ?

हमने अकसर कई जगह पढ़ा है कि मुख्त तौर पर तीन रंग होते हैं नीला, पीला और लाल ! इसी प्रकार ये तीन रंग अखबार में पैटर्न प्रिंट के तौर पर भी यूज किया जाता है। इन्हीं रंगों में एक और रंग जुड़ा होता है और वो होता है काला, जो अक्सरों के लिए इस्तेमाल होता है। इसी से पता चल पाता है कि अखबार में इन चारों रंगों का इस्तेमाल किया गया है। ये चार बिंदिया CMYK क्रम में बनी होती हैं। जैसे-
C = Cyan (प्रिंटिंग में इसका मतलब है नीला)
M = Magenta (गुलाबी)
Y = Yellow (पीला)
K = Black (काला)

Advertisement

CMYK प्रिंटिंग प्रक्रिया की क्या हैं विशेषताएं ?

1). इस प्रक्रिया में हर समय 4 मानकीकृत (प्रमाण के अनुसार किया हुआ) आधार रंगों का इस्तेमाल होता है। जैसे- सियान, मैजेंटा, पीला और काला आदि।
2). वहीं प्रिंटेड इमेज बनाने के लिए इन रंगों के छोटे बिंदु अलग-अलग कौने पर प्रिंट होते हैं।
3). कमर्शियल प्रिंटिंग में ज्यादातर व्यापक रूप से इस्तेमाल और लागत प्रभावी रंग प्रणाली होती है।
4). यह बड़ी मात्रा के लिए टोनर आधारित या डिजिटल प्रिंटिंग से काफी सस्ती होती है।

ये रंग प्रिंटर के मार्कर के रूप में करते हैं काम

एक दिन में कितने अखबार छप जाते हैं ! और उसमें कहां कौनसी गलती हुई है ! किसी खबर में क्या फोटो गलत लगा है या कहां कौन से रंग का इस्तेमाल ज्यादा हुआ इसका पता लगा पाना प्रिंटर के लिए बेहद मुश्किल होता है। इसलिए वो अक्सर ही इन रंगों के द्वारा ये सब यादा रखता है। तो इसलिए मूल रूप से ये चार रंग बिंदु अखबार में प्रिंटर के मार्कर के रूप में काम करते हैं।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here