प्राण क्या है जिसके निकल जाने से मृत्यु हो जाती है | यहां पढ़ें GK In Hindi General Knowledge

GK In Hindi General Knowledge प्राण क्या है जिसके निकल जाने से मृत्यु हो जाती है : इंसान को सबसे ज्यादा डर मरने से लगता है ! फिर चाहे वो अपने बुढ़ापे में ही क्यों ने मरे ! इस बात में बुरा जैसा माने वाली कोई बात नहीं, लेकिन ये सच है कि लोग उस बीमारी का भी इलाज करवाते हैं जिसके चलते उनको पता है इसका कोई इलाज नहीं या वो इस इलाज से बच नहीं सकते हैं, लेकिन हमारे दिमाग में अक्सर ऐसी बाते आती रहती हैं, जिनके जवाब हमें कभी मिल ही नहीं पाते जैसे कि प्राण क्या है !

प्राण क्या है जिसके निकल जाने से मृत्यु हो जाती है | यहां पढ़ें GK In Hindi General Knowledge

General Knowledge प्राण क्या है जिसके निकल जाने से मृत्यु हो जाती है
General Knowledge प्राण क्या है जिसके निकल जाने से मृत्यु हो जाती है

आज हम अपनी इस पोस्ट में इसी बारे में थोड़ी बात करने जा रहे हैं, जो आपके दाम आ सकती है ! प्राण जिसे हम जीवन की डोर कह कर भी बुलाते है ! उसके विषय में प्राचीन ऋषि-मुनियों से लेकर आधुनिक युग के दिग्गज डॉक्टर तक ने जानने का अथक कोशिश किया कि ये क्या चीज है, जिसे हम क्या कोई भी आज तक नहीं देख पाया और ना ही देख पाएगा, लेकिन विद्वानों ने इनके विषय में अपने अपने मत जरूर दिए हैं, लेकिन सही निष्कर्ष आज तक कोई नहीं निकाल पाया !

इसके कहते हैं जीवन यानी प्राण | GK In Hindi 

कोई कहता है कि प्राण हवा है और हवा को कोई देख नहीं पाता ! इसलिए किसी के प्राण निकलते हैं तो हम भी नहीं देख पाते ! मेरा सवाल है कि यहां अगर प्राण हवा है तो हम प्रतिदिन वायु सांसों के जरिए खींचते हैं और निकालते हैं ! वायु को जब हम बाहर निकालते हैं तो उसी के साथ प्राण बाहर क्यों नहीं निकल जाता ! कोई कहता है कि प्राण का निवास स्थान तृतीय नेत्र वाला स्थान है तृतीय नेत्र वाले स्थान संतजन दोनों भौहों के मध्य वाले भाग को कहते हैं ! अगर उसी जगह पर प्राण का निवास होता है !

इस तरह से निकलते हैं शरीर से प्राण | General Knowledge

GK In Hindi General Knowledge तो शरीर का खून निकल जाने से मृत्यु क्यों हो जाती है किसी की म्रत्यु हाथ कटने से हो जाती है तो कोई पेट में चोट लगने से मर जाता है ! अगर प्राण का कोई एक निश्चित स्थान कहा जाए तो ये कोरी मूर्खता है क्योंकि यही सत्य है कि प्राण का निवास स्थान एक सीमित दायरे में नहीं है ! बल्कि संपूर्ण शरीर में व्याप्त है शरीर का प्रत्येक अंग प्राण है ! मुंह प्राण है, नाक प्राण है, जीभ प्राण है, मुंह में बनने वाली लार प्राण है, हाथ पैर प्राण है, जिस तरह चलते हुए इंजन का कोई एक पार्ट खराब हो जाए तो इंजन बंद हो जाता है यानि बेकार हो जाता है उसी तरह शरीर का कोई अंग नष्ट हो जाने से प्राण शरीर को त्याग सकता है !

यह भी पढ़ें:- बालों के बारे में ये रोचक बातें नहीं जानते होंगे आप | यहां पढ़ें
रात के समय जानवरों की आंखें क्यों चमकती है | यहां पढ़ें
जानवरों के बारे में कुछ दिलचस्प तथ्य क्या हैं | यहां पढ़ें
Advertisement