डिप्रेशन से कैसे बचा जा सकता है | यहां पढ़ें GK In Hindi General Knowledge

GK In Hindi General Knowledge डिप्रेशन से कैसे बचा जा सकता है : डिप्रेशन ( depression ) को हिंदी में अवसाद कहा जाता है ! ये एक तरह से मानसिक रोग है, जिसके सबसे अधिक मरीज देखने को मिलते हैं ! ये कोई पागलपन वाली बीमारी नहीं होती ! इस समस्सा में इंसान अपने दिमाग में कर तरह के डर को महसूस करने लगता है ! वो अपने आस-पास खतरा महसूस करता है ! इसके अलावा इस बीमारी में उस इंसान को कई तरह के परेशानियों का समना करता हे, जिसको वो बयां नहीं कर पाता और अपनी इन्हीं समस्याओं में उलझ कर वो आत्महत्या जैसे कदम उठा लेता है !

डिप्रेशन से कैसे बचा जा सकता है | यहां पढ़ें GK In Hindi General Knowledge

डिप्रेशन से कैसे बचा जा सकता है यहां पढ़ें GK In Hindi

डिप्रेशन से कैसे बचा जा सकता है यहां पढ़ें GK In Hindi

वहीं अगर इस बीमारे के बारे में आगे बता करें तो, ये समस्या दुनिया के हर देश में फैली हुई है, जो दुनियाभर के लिए एक चिंता का विषय बना हुआ है ! वहीं एक वेबसाइट पर छपी रिपोर्ट के मुताबिक भारत दुनिया की डिप्रेस्ट कंट्री ( Depressed country ) है यानी इसमें सबसे ज्यादा लोग डिप्रेशन ( depression ) से पीड़ित है ! भारत की जनसंख्या के लगभग 6.5 प्रतिशत लोग डिप्रेशन ( depression ) से पीड़ित हैं, जिनमें से लगभग 10.9 लोग प्रति लाख लोगों में इसकी वजह से आत्महत्या कर लेते हैं ! ऐसा मानसिक रोग ( Mental illness ) की जानकारी न होने के कारण की वजह से होता है, जिसे दूर करने की कोशिश सभी लोगों को करनी चाहिए !

डिप्रेशन की रोकथाम कैसे करें ( How to prevent depression )| GK In Hindi

अगर आंकड़ों के बारे में बात करें तो डिप्रेशन ( depression ) के मरीज हर दिन तेजी से बढ़ते जा रहे हैं, जिन्हें काफी सारी परेशानियों से गुजरना पड़ता है ! इस समस्या का असर इस बीमारी से पीड़ित लोगों के साथ-साथ उनके परिवार वालों पर भी पड़ता है ! इसके बावजूद राहत की बात ये है कि इसके लिए थोड़ी सावधानी बरतकर डिप्रेशन ( depression ) की रोकथाम की जा सकती है ! अगर कोई इंसान इस बातों का खास ख्याल रखें तो वो डिप्रेशन ( depression ) की रोकथाम आसानी से कर सकता है !

यह भी पढे़ं:-  IAS Success Story : 7 साल तक UPSC तैयारी करने के बाद पाँचवे प्रयास में बनें IAS

इन बातों का रखें ख्याल डिप्रेशन रहेगा दुर | General Knowledge

1). स्ट्रेस मैनेज करना ( Managing stress ) – आपकी जानकारी के लिए बता दें कि डिप्रेशन ( depression ) टेंशन का ही एक रूप होता है ! इसलिए इसकी रोकथाम के लिए अपने स्ट्रेस मैनेज करना बेहद जरूरी है ! ऐसे करने का आपके लिए इससे मुक्त होने में लाभकारी साबित होगा !

2). भरपूर नींद लेना ( Get plenty of sleep ) – अगर कोई व्यक्ति भरपूर नींद यानि 6 से 8 घंटे तक लेता है, तो उसे अवसाद होने की संभावना काफी कम होती है ! इस तरह डिप्रेशन ( depression ) से बचने का कारगर उपाय भरपूर नींद लेना होता है !

3). एक्सरसाइज करना ( Do exercise ) – साथ ही डिप्रेशन ( depression ) से बचने के लिए एक्सरसाइज करना बेहतर विकल्प साबित हो सकता है क्योंकि एक्सरसाइज का असर लोगों की शारीरिक सेहत के साथ-साथ मानसिक सेहत पर भी पड़ता है !

यह भी पढे़ं:- लड़को के कुछ रोचक तथ्य क्या है, जो लड़कियों को पता नहीं है | GK In Hindi General Knowledge

4). हेल्दी फूड खाना ( Eating healthy food ) – हम सभी लोगों को अपने खान-पान का खास ध्यान रखना चाहिए, क्योंकि ये हमें डिप्रेशन ( depression ) जैसी गंभीर बीमारियों से बचने में मदद करता है !

5). नियमित रूप से हेल्थ चेकअप कराना ( Getting health checkups done regularly ) – ये सबसे जरूरी चीज है, जिसका पालन सभी लोगों को करना चाहिए ! अगर हम नियमित रूप से हेल्थ चेकअप कराएं तो हम संभावित बीमारी के लक्षणों का पता समय रहते लगा सकते हैं और इसके साथ में हम अपना इलाज सही तरीके से करा सकते हैं !

6). मनोवैज्ञानिक से संपर्क करना ( Contact a psychologist ) – अगर किसी व्यक्ति को अपने स्वभाव में अचानक बदलाव नजर आता है, तो उसे बिना देरी किए मनोवैज्ञानिक ( Psychologist ) से मिलना चाहिए ! ऐसी स्थिति में हम सही तरीके से इलाज करवाकर बेहतर जिंदगी जी सकते हैं ! GK In Hindi General Knowledge .

यह काम जरूर करें : डिप्रेशन से कैसे बचा जा सकता है

  • सबसे पहले डिप्रेशन दूर करने के लिए आठ घंटे की नींद लें। नींद पूरी होगी तो दिमाग तरोताजा होगा और नकारात्मक भाव मन में कम आएंगे।
  • प्रतिदिन सूरज की रोशनी में कुछ देर जरूर रहें। इससे अवसाद जल्दी हटेगा।
  • बाहर टहलने जाएं। रोज बाहर टहलें, कभी-कभी कॉफी शॉप में कुछ समय बिताएं या बाहर खाना खाने जाएं। इससे मन में उत्साह बना रहेगा।
  • अपने काम का पूरा हिसाब रखें। दिन भर में आप कितना काम करते हैं और किस गतिविधि को कितना समय देते हैं इस पर जरूर गौर करें। इससे आपको सभी
  • गतिविधियों के बीच संतुलन बनाने में आसानी होगी और तनाव कम होगा।
  • ध्यान व योग को दिनचर्या में शामिल करें।

यह भी पढे़ं:-  New Small Business Ideas : आप इस बिजनेस आइडियाज से कमा सकते है लाखों रुपये