पान जलाकर खाने वाले का मुंह क्यों नहीं जलता है | यहां पढें GK In Hindi General Knowledge

GK In Hindi General Knowledge पान जलाकर खाने वाले का मुंह क्यों नहीं जलता है : आप सभी में से बेहद से लोग ऐसे होंगे जिनको खाने के बाद या ऐसे ही पान खाना पसंद करते ही होंगे और आप लोग ये भी जानते होंगे कि आज के बदलते समय में पान का और इसको खाना का अंदाज दोनों बदल चुका है ! आज पान की दुकान पर आपको अलग-अलग किस्म के पान खाने को मिल जाएंगे, जिनके बारे में कभी सुना भी न हो ऐसे पान और खास बात तो ये है कि ये पान लोगों को काफी पसंद भी आते हैं !

पान जलाकर खाने वाले का मुंह क्यों नहीं जलता है | यहां पढें GK In Hindi General Knowledge

पान जलाकर खाने वाले का मुंह क्यों नहीं जलता है _ यहां पढें GK In Hindi

पान जलाकर खाने वाले का मुंह क्यों नहीं जलता है _ यहां पढें GK In Hindi

आज के दौर में कई तरह के पान आने लगे हैं, जिसमें फ्लेवर पान मीठा बादशाह पान, चॉकेलेट पान, स्ट्रॉबेरी पान लीची पान, मैंगो पान ऑरेंज पान, पाइनएप्पल पान, मिक्स फ्रूट 500 चंदन पान, पान मोगरा पान, नाइट क्वीन पॉर्न केसर और फायर पान के अलावा भी करीबन 45 से 49 किस्म के पान होते हैं, जिनको लोगों बेहद चाव से खाना पसंद करते हैं, लेकिन आज का सवाल ये है कि पान जलाकर खाने वाले का मुंह क्यों नहीं जलता है तो आज हम इसी के बारे में बात करने जा रहे हैं !

फायर पान देता है मुंह को ठंडक | GK In Hindi

दरअसल पान जलाकर खाना आमतौर पर गुजरात में काफी मशहूर है, लेकिन अब ये आपको लगभग सभी शहरों में देखने को मिल जाएंगे ! जलाकर पान खाना आमतौर पर लोगों के बीच फायर पान के नाम से प्रसिद्ध है ! पहले जिसका गला खराब होता था वह लौंग को जलाकर पान खाना पसंद करता था, लेकिन उसमें मुंह जलने का खतरा होता था ! इससे बचने के लिए लोगों ने मीठे पान में बर्फ और उसके ऊपर ब्रास यानि सेमी पिपरमेंट रखकर उसे जलाते हैं !

यह भी पढ़ें:ऑपरेशन करने के बाद टांका लगाने के लिए कौन से धागे का उपयोग किया जाता है | GK in Hindi

GK In Hindi General Knowledge आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ये जलता पान जैसे मुंह में जाता है तो आग बुझ जाती है जिससे मुंह चलने का खतरा नहीं रहता है ! साथ ही यह जलता हुआ पान मुंह में जाकर खासा ठंडक भी देता है !

आज के दौर में कई तरह के पान आने लगे हैं, जिसमें फ्लेवर पान मीठा बादशाह पान, चॉकेलेट पान, स्ट्रॉबेरी पान लीची पान, मैंगो पान ऑरेंज पान, पाइनएप्पल पान, मिक्स फ्रूट 500 चंदन पान, पान मोगरा पान, नाइट क्वीन पॉर्न केसर और फायर पान के अलावा भी करीबन 45 से 49 किस्म के पान होते हैं, जिनको लोगों बेहद चाव से खाना पसंद करते हैं, लेकिन आज का सवाल ये है कि पान जलाकर खाने वाले का मुंह क्यों नहीं जलता है तो आज हम इसी के बारे में बात करने जा रहे हैं |

GK in Hindi General Knowledge

चुन्नीलाल पान (Chunnilal Pan में लौंग (Long) लगाकर उसमे आग लगा देता है और फिर उसे ग्राहक के मुंह में रख देता हैं। चुन्नीलाल का कहना है कि जब यह भूनी हुई लौंग गले से नीचे जाती है, तो पान का स्वाद और बढ़ा देती है और यह सेहत के लिए भी अच्छी होती है। इस पान में लगी आग, मुंह में रखते ही बुझ जाती है, इसलिए मुंह में किसी तरह की जलन नहीं होती। चुन्नीलाल इस काम में माहिर हैं और अपने इस अनोखे पान की मदद से लोगों का ध्यान आकर्षित करना बखूबी जानते हैं। देखिये ये चौंका देनेवाला विडियो, जिसमे आप लोगों को जलता हुआ पान बड़े मज़े से खाते हुए देखा पाएंगे।

यह भी पढ़ें:-  ऐसा कौनसा फल है जो हर तरफ से बंद होता है लेकिन उसके अंदर कीड़े होते हैं | यहां जानें

जलता हुआ पान खाने वाले का मुंह क्यों नहीं जलता?

आप सभी में से बेहद से लोग ऐसे होंगे जिनको खाने के बाद या ऐसे ही पान खाना पसंद करते ही होंगे और आप लोग ये भी जानते होंगे कि आज के बदलते समय में पान का और इसको खाना का अंदाज दोनों बदल चुका है ! आज पान की दुकान पर आपको अलग-अलग किस्म के पान खाने को मिल जाएंगे, जिनके बारे में कभी सुना भी न हो ऐसे पान और खास बात तो ये है कि ये पान लोगों को काफी पसंद भी आते हैं !

चाव से खाते हैं। राजकोट शहर में रिंग रोड स्थित यह पान शॉप बड़ी फेमस (Famous Pan Shop) है। यहाँ चुन्नीलाल नाम का यह व्यक्ति पिछले कई सालों से एक अजीब तरह के पान से लोगों के मुंह का स्वाद बढ़ा रहा है। चुन्नीलाल जलता हुआ पान लोगों के मुंह में बड़ी आसानी से रख देता है और लोग भी बगैर डर के इस पान को स्वाद ले-लेकर खाते हैं। चुन्नीलाल का दावा है कि यह पान जो एक बार खाएगा, वह बार-बार पान खाने उसकी दुकान पर ज़रूर आएगा।

यह भी पढ़ें:- कोयले से बिजली का उत्पादन कैसे होता है | यहां जानें GK In Hindi General Knowledge