हिमालय के ऊपर से विमान क्यों नहीं उड़ते है | GK In Hindi General Knowledge

हिमालय के ऊपर से विमान क्यों नहीं उड़ते है ; हिमालय की चोटी समताप मंडल(stratosphere) को स्पर्श करती है ! इसलिए हिमालय के ऊपर एक सुरक्षित दूरी पर उड़ान भरने के लिए उड़ानों को समताप मंडल के निचले हिस्से में और भी आगे जाना पड़ता है ! स्ट्रैटोस्फियर में हवा बेहद पतली होती है ! ऑक्सीजन का स्तर भी कम होता है ! यदि केबिन के दबाव का कम होता है तो हवाई जहाज को ऊंचाई पर उतरना चाहिए जहां सांस लेने के लिए पर्याप्त हवा हो ! आप हिमालय पर ऐसा नहीं कर सकते ! तिब्बत के दूरस्थ भूगोल के कारण विमानों को भी इस मार्ग पर उड़ान भरने की अधिक आवश्यकता नहीं है !

हिमालय के ऊपर से विमान क्यों नहीं उड़ते है (GK In Hindi)

हिमालय के ऊपर से विमान क्यों नहीं उड़ते है
हिमालय के ऊपर से विमान क्यों नहीं उड़ते है

इस दुनिया में बहुत सारे ऐसे देश है जो काफी ज्यादा विकसित हो चुके है ! जहाँ पर हर दिन कई बड़े हवाई जहाज उड़ते रहते है ! लेकिन उसमे क्या आप लोगो पता है की हिमालय के ऊपर से हवाई जहाज क्यों नहीं उड़ाया आज में आप लोगो को इस के बारे में बताने जा रहे है ! पहला करण यह है की पर्वत श्रंखलाओ प्र चलने वाली उच्च गति की  हवाए पर्वत तरंगो का निर्माण करती है ! जो की किसी भी हवाई जहाज को अनियंत्रित का देती है ! इस लिए हवाई जहाजो के लिए उस  क्षेत्र पर उड़न भरना लगभग असंभव  रहता है ! दूसरा कारण यह है की ऑक्सीजन मास्क में आमतौर पर 15 से 20 मिनट तक की ऑक्सीजन रहती है !

अगर किसी कारण वश विमान को 35000 फिट की उचाई से निचे लाना पड़ा तो ऐसा करना हिमालय में बहुत खतरनाक हो सकता है ! क्योकि 35000 फिट की उचाई पर ऑक्सीजन और वायुमंडलीय दबाब बहुत काम हो जाता है ! तीसरा कारण यह है की विमानों में इतनी उचाई रखती पड़ती है ! की यह पायलटों इसका मतलब है की अगर कुछ गलत होता है ! तो कप्तान समस्या को ठीक करने की कोशिश करते हुए विमान को कुछ देर के लिए हवा में अपने आप ही उड़ने देता है ! इस दौरान अगर त्रुटि सही हो जाती है तो फिरसे विमान उड़ते लगता है ! नहीं तो आपातकाल लेंडिंग करनी पड़ती है ! General Knowledge

एवरेस्ट या प्रशांत महासागर में क्यों नहीं उड़ते हैं (General Knowledge)

देबप्रियो के अनुसार अधिकांश वाणिज्यिक एयरलाइन सीधे हिमालय पर उड़ान भरने से बचती हैं ! ऐसा इसलिए है क्योंकि हिमालय में 20000 फीट से अधिक ऊंचे पहाड़ हैं जिसमें माउंट एवरेस्ट 29035 फीट पर खड़ा है ! हालांकि अधिकांश वाणिज्यिक हवाई जहाज 30000 फीट पर उड़ सकते हैं !

उन्होंने कहा इसलिए हिमालय के ऊपर एक सुरक्षित दूरी पर उड़ान भरने के लिए उड़ानों को समताप मंडल के निचले हिस्से में और भी आगे जाना पड़ता है ! वायु समताप मंडल में बेहद पतली होती है ! ऑक्सीजन का स्तर भी कम होगा ! इससे वायु अशांति होगी ! और यात्रियों को बेचैनी ! इसके अलावा हवा का बल मजबूत होगा और पहाड़ों की उपस्थिति विमान की पैंतरेबाजी को और भी कठिन बना देती है ! General Knowledge

Why don’t planes fly over the Himalayas GK in Hindi

General Knowledge GK In Hindi मनुष्य ने वायुयान को ध्वनि की गति से दोगुना और ग्रह पृथ्वी से बाहर उड़ान भरने में सक्षम बनाया है ! किसी भी महाद्वीप पर किसी भी देश के लिए हवाई यात्रा संभव है ! हालाँकि पृथ्वी पर कुछ स्थान ऐसे हैं जहाँ हवाई जहाज नहीं उड़ते हैं जैसे कि हिमालय ! वर्षों से कई सिद्धांतों का गठन किया गया है कि विमान हिमालय या तिब्बती क्षेत्र में क्यों नहीं उड़ते हैं ! अधिकांश कारण वास्तविक वैज्ञानिक तथ्य हैं ! लेकिन कुछ लोगों ने कुछ अंधविश्वासों को भी साझा किया है जैसे कि अदृश्य अनिष्ट शक्ति जो हवाई जहाज गिरे हुए योद्धाओं के भूत और यहां तक ​​कि घिनौने स्नोमैन या यति की उपस्थिति को भी बढ़ाती है ! उन लोगों को एक तरफ रखते हुए यहाँ हिमालय या तिब्बत के ऊपर विमान क्यों नहीं उड़ते हैं!

यह भी जानें ; दुनिया का सबसे बड़ा परिवार, एक ही घर में रहते हैं 181 सदस्य | GK In Hindi General Knowledge

भारत में पहली बार भरतीय रुपया कहाँ पर छापा गया था | GK In Hindi General Knowledge
Advertisement