करोनिल क्या है, क्या वास्तव में कोरोना की दवाई बन गयी है |

चीन के वुहान राज्य से आए वायरस कोरोना ने दुनिया भर में कोहराम मचा रखा है। दुनिया भर इस महामरी लोग करोड़ो की संख्या में मर रहे हैं। अस्पतालों में इसका इलाज करवा रहे हैं। इसके अलावा काफी संख्या में लोगों ने इस बिमारी को मात भी दी हैं, लेकिन फिर भी इस महामारी को जड़ से मिटाने के लिए कई बड़े डॉक्टर्स और वैज्ञानिक इसकी दवा खोजने में लगे हैं। वहीं हाल ही में जाने माने योग बाबा रामदेव ने मंगलवार को कोरोना की आयुर्वेदिक दवा बनाने का दावा किया, जिसका नाम कोरोनिल बताया जा रहा है।

करोनिल क्या है, क्या वास्तव में कोरोना की दवाई बन गयी है ?

करोनिल क्या है, क्या वास्तव में कोरोना की दवाई बन गयी है ?
करोनिल क्या है, क्या वास्तव में कोरोना की दवाई बन गयी है ?

इतना ही नहीं इस मेडिसिन के जरिए कोरोना के मरीजों को ठीक करने का दावा भी किया गया है। साथ ही इसे जल्द बाजारों में भी उतारने की बात की जा रही है। इसके अलावा इस दवा का क्लिनिकल ट्रायल में सफल परिणामों का दावा किया गया है। साथ ही बताया जा रहा है कि इस दवा का इस्तमेला कम से कम 280 लोगों पर किया गया था, जिसके दौरान सात दिन में उन सभी में 100 फीसदी मरीज ठीक हो गए। इस दवा में कई प्रकार की जड़ी बूटियों का इस्तेमाल कर इसको बनाया गया है।

इन औषधियों से बनाई गई दवा

बाबा रामदेव के औषधालय पतंजलि की ओर से बताया गया है कि इस दवा को बनाने के लिए गिलोय, अश्‍वगंधा, तुलसी, श्‍वसारि रस और अणु तेल का इस्तेमाल किया गया है। इस दवा में इस सब चीजों का मिश्रण है। साथ ही उन्होंने बताया है कि गिलोय, तुलसी और अश्वगंधा हमारे इम्युनिटी सिस्टम को मजबूत करता है और ये दवा भी आपके शरीर में अंदर तक असर करके कोरोना को आपके शरीर पर हावी होने से रोकती है। यह दवा दिन में दो बार- सुबह और शाम को ली जा सकती है।

कोरोनिल पर आयुर्वेद ड्रग्स लाइसेंस अथॉरिटी ने उठाए सवाल

बताया ये भी जा रहा है कि इस दवा को पतंजलि रिसर्च इंस्‍टीट्यूट और नैशनल इंस्‍टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस, जयपुर ने मिलकर बनाया है, लेकिन वहीं इस दवा पर उत्तराखंड की आयुर्वेद ड्रग्स लाइसेंस अथॉरिटी ने सवाल भी उठाया है। उनका कहना है कि बाबा ने इस दवा को सर्दी-खांसी की दवा के लाइसेंस पर बनाया है, जो की गलत है। वहीं बाबा ने दावा किया है कि क्लिनिकल टेस्ट में दवा से 100 फीसदी सफल परिणाम सामने आया है। हालांकि अब लॉन्च होने के बाद से ही पतंजलि की यह दवा कोरोनिल विवादों में है।