BJP leader gave a controversial statement about alcohol : शराबबंदी की बात पर बीजेपी नेता ने दिया विवादित बयान, बोले – यहां देवता भी पीते थे शराब

Madhya Pradesh : मध्य प्रदेश में हुए मुरैना जहरीली शराब कांड (murena liquor case) के बाद प्रदेश में शराबबंदी की मांग तेज हो रही है। ‌ विपक्ष के साथ-साथ भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेता और मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती (former CM Uma Bharti) ने भी ट्वीट करते हुए मध्य प्रदेश में शराबबंदी की मांग की है। ‌इतना ही नहीं उमा भारती ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP nadda) से यह अपील की है कि वह भाजपा शासित सभी राज्यों में शराबबंदी कराएं। ‌मगर मध्य प्रदेश के भाजपा नेता और भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष चौधरी मुकेश चतुर्वेदी (Chaudhari Mukesh Chaturvedi) ने शराब को लेकर एक विवादित बयान (BJP leader gave a controversial statement about alcohol) दे डाला है। ‌

BJP leader gave a controversial statement about alcohol : शराबबंदी की बात पर बीजेपी नेता ने दिया विवादित बयान, बोले – यहां देवता भी पीते थे शराब

BJP leader gave a controversial statement about alcohol : शराबबंदी की बात पर बीजेपी नेता ने दिया विवादित बयान, बोले - यहां देवता भी पीते थे शराब

भाजपा नेता बोले – यहां देवता भी पीते थे शराब

मध्य प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष चौधरी मुकेश चतुर्वेदी ने शराब को लेकर एक विवादित बयान (BJP leader gave a controversial statement about alcohol) दिया है। उन्होंने अपने बयान में कहा है कि मैंने खुद पढ़ा है यहां देवी देवता भी शराब पीते थे। उन्होंने कहा कि शराब की प्रथा हमारे देश में पुरातन काल से चली आ रही है। जब महाभारत (Mahabharat) की युद्ध की घोषणा हुई थी तब आयुध और शराब के उत्पादन बढ़ाने के निर्देश दिए गए थे। ‌मीडिया (media) द्वारा शराब की दुकान बढ़ाए जाने पर जब उनसे सवाल किया गया तब भाजपा नेता चौधरी मुकेश चतुर्वेदी (Chaudhari Mukesh Chaturvedi) ने कहा कि प्रदेश में शराब शुद्ध मिलना चाहिए और इसे सीमा में पीया जाना चाहिए। ‌

सीएम ने आबकारी विभाग पर जताई नाराजगी

मध्य प्रदेश आबकारी विभाग (excise department) के आयुक्त के द्वारा कलेक्टरों को पत्र भेजे गए थे जिनमें शराब दुकानों (liquor shops) को बढ़ाए जाने का प्रस्ताव था। ‌ मगर जब इस पूरे मामले की जानकारी प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) को लगी, तब उन्होंने आबकारी विभाग पर नाराजगी जताई। इसके बाद आबकारी आयुक्त राजीव चंद्र दुबे (Rajeev Chandra Dubey) ने तत्काल प्रस्ताव को निरस्त कर दिया और सभी कलेक्टरों को ईमेल कर के प्रस्ताव को निरस्त करने के आदेश जारी किए। जानकारी के लिए बता दें कि मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने कहा था कि प्रदेश में शराब की दुकानों में बढ़ोतरी की जाए ताकि लोग अवैध तथा जहरीली शराब ना पिए।

उमा भारती ने की शराबबंदी की अपील

प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा की नेत्री उमा भारती (Uma Bharti) ने 22 जनवरी को 8‌ ट्वीट करते हुए मध्य प्रदेश में शराबबंदी की अपील की है। उमा भारती ने कहा है कि वह इस मुद्दे पर काफी पहले से बात करना चाहती थी मगर ऐसा मौका नहीं मिला और वह अपनी बात नहीं कर पाई। ‌मगर अब वह प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) से बात करेंगे क्योंकि मुख्यमंत्री साहसी है और वह प्रदेश में शराबबंदी का निर्णय ले सकते हैं। उमा भारती ने यह भी कहा कि बिहार में शराबबंदी के बाद नीतीश कुमार (Bihar CM Nitish Kumar) को महिलाओं का भारी समर्थन मिला और बिहार में नीतीश कुमार की जीत हुई। ‌

A big gift from CM Shivraj to the youth of Madhya Pradesh : मध्य प्रदेश को मिलेगा अजीम प्रेमजी फाउंडेशन की ओर से विश्वविद्यालय, युवाओं को आईटी क्षेत्र में मिलेगा रोजगार

Kamal Nath raging on CM Shivraj : कमलनाथ ने निकाला सीएम शिवराज पर गुस्सा, बोले – मामा शिवराज के राज में कहीं भी सुरक्षित नहीं भांजियां

CM Shivraj handed over investigation of sexual abuse victim to SIT : सीएम शिवराज ने लगाई अधिकारियों को फटकार, कहा – बेटी को नहीं बचा पाना दुर्भाग्यपूर्ण

Congress leader raised questions on Jyotiraditya Scindia’s status : कांग्रेस नेता ने पूछा सवाल, आखिर क्यों चोरी छिपे ग्वालियर आते हैं सिंधिया?