इंदौर गोकुलदास अस्पताल का लाइसेंस निरस्त , कलेक्टर ने की कार्यवाही

Advertisement

इंदौर प्रशासन ने गुरुवार को कुछ घंटों के दौरान अस्पताल में भर्ती छह मरीजों की मौत के बाद अस्थायी रूप से एक निजी अस्पताल का लाइसेंस निलंबित कर दिया है ! कलेक्टर द्वारा अस्पताल में जांच दल भेजे जाने के बाद शुक्रवार को प्रशासनिक कार्रवाई हुई ! इस कार्यवाही में इंदौर गोकुलदास अस्पताल का लाइसेंस निरस्त किया गया ! शहर में इस अस्पताल को covid19 उपचार के लिए अस्पताल को अधिसूचित किया गया था !

Advertisement

इंदौर के अस्पतालों को सामान्य रोगियों के लिए रेड (covid19), ऑरेंज (covid19 संदिग्धों) और ग्रीन में वर्गीकृत किया गया है ! मरीज के परिजनों ने आरोप लगाया कि अस्पताल प्रशासन ने अस्पताल को ग्रीन श्रेणी में बदलने की योजना बनाई है ! चूंकि गोकुलदास अस्पताल में एक के बाद एक छह मरीजों का निधन हो गया !  इसलिए गुरुवार को मृतक के परिजनों ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो अपलोड किया ! जिसमें अस्पताल पर लापरवाही का आरोप लगाया गया !

इंदौर गोकुलदास अस्पताल का लाइसेंस निरस्त

Indore Gokuldas Hospital license revoked
Indore Gokuldas Hospital license revoked

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी ट्वीट कर वीडियो की मांग की ! जांच के बाद, जांच टीम ने अस्पताल का लाइसेंस निलंबित करने का आदेश दिया ! एक ही दिन में अस्पताल में छह मरीजों की मौत के बाद गुरुवार को यह कार्रवाई की गई है  ! इंदौर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) डॉ प्रवीण जदिया ने शुक्रवार दोपहर 11.30 बजे और दोपहर 3.40 बजे तीन और लोगों ने इस अस्पताल में दम तोड़ दिया ! उन्होंने कहा कि अब अस्पताल में इलाज नहीं होगा !

Advertisement

आईसीयू में एक मरीज सहित, एक दर्जन रोगियों को अस्पताल में सामान्य वार्ड में भर्ती कराया गया था ! सीएमएचओ ने कहा कि गुरुवार रात को आईसीयू मरीज की गंभीर स्थिति के कारण अस्पताल को सील नहीं किया गया था ! “हम अस्पताल पर लगे आरोपों की जांच कर रहे हैं,” Dr Jadia ने कहा डॉ पंडिया के नेतृत्व में वरिष्ठ चिकित्सकों की एक टीम का गठन किया गया, जो अस्पताल पहुंचे और रिकॉर्ड जब्त किया ! अस्पताल प्रशासन को सूचित करने के बावजूद अस्पताल प्रबंधन ने जांच टीम से संपर्क नहीं किया ! वायरल वीडियो में अस्पताल में मरने वालों के परिजनों ने निजी अस्पताल के खिलाफ कई गंभीर आरोप लगाए थे, जिनमें से कई ने आरोप लगाया था !कि उनके मरीज स्थिर और ठीक होने के कुछ ही मिनटों बाद मर गए थे !

यह भी जाने – पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर गंभीर आऱोप ,सरकार जेल भेजने की तैयारी में

यदि आप SRBpost.com की इस पोस्ट से जुड़ा कोई सवाल पूछना चाहते है ! या आप को अन्य जानकारी चाहते है तो निचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है !

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here