मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा – आपके सेवक के रूप में काम करते हुए 100 दिन पुरे

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि यह आपके आशीर्वाद का ही प्रताप है, जिसके कारण #COVID19 से उत्पन्न परिस्थितियों व अन्य विषमताओं से लड़कर प्रदेश जीता है। आपको हृदय से धन्यवाद देता हूं! संतोष की बात है कि शून्य से प्रारंभ कर भी हम प्रदेश को विषमताओं से निकालने में सफल हुए हैं। गरीबों को भोजन, प्रवासी श्रमिकों को रोजगार, गेहूं की रिकॉर्डतोड़ खरीदी, संबल हितग्राहियों के हितों की रक्षा जैसे अनेक कार्यों की पूर्णता, आपके विश्वास का परिणाम हैं। आज पुन: आपके सेवक के रूप में काम करते हुए मुझे 100 दिन हो गये।

आपके सेवक के रूप में काम करते हुए 100 दिन पुरे

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कार्यकाल के सफल 100 दिन पुरे हुए
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कार्यकाल के सफल 100 दिन पुरे हुए

हमने भी Lockdown में खरीदी केंद्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग, सैनिटाइजेशन आदि की व्यवस्था कर गेहूं खरीदी में पंजाब को भी पीछे छोड़ दिया।इस गौरव और सम्मान के लिए अन्नदाता का अभिनंदन! यह हमारे लिए हर्ष की बात है कि मध्य प्रदेश ने अब तक 1 करोड़ 29 लाख 34 हजार 500 मीट्रिक टन गेहूं की खरीदी कर उन्हें लगभग 24 हजार करोड़ रुपये का भुगतान किया है। किसानों के चेहरे पर मुस्कान बनी रहे, यही तो मेरे जीवन का ध्येय है। किसानों के लिए शून्य प्रतिशत ब्याज पर ऋण उपलब्ध कराने की योजना हमने पुन: प्रारंभ करवाई, ताकि अन्नदाता अकारण साहूकारों के चंगुल में न फंसें।

किसानों ने रिकॉर्ड तोड़ गेहूं का उत्पादन कर प्रदेश को गौरवान्वित किया।

फसल बीमा की लगभग 2990 करोड़ रुपये की राशि किसानों के खातों में जमा करवाया। मेरे जीते जी किसानों के साथ अन्याय असंभव है। मैंने उद्योगों के विकास और श्रमिकों के कल्याण में बाधा बनने वाले कई श्रम कानूनों में बदलाव किये।इस ऐतिहासिक परिवर्तन से उद्योगों की न केवल राहें आसान हुई हैं, बल्कि इससे निवेश भी बढ़ेगा और श्रमिकों के लिए रोजगार के नए अवसर सृजित होंगे।महिला स्व-सहायता समूहों को सशक्त बनाने के लिए 4% ब्याज पर बहनों को ऋण देने की योजना बनाई। शहरी स्ट्रीट वेंडर्स के लिए बिना ब्याज के ऋण की व्यवस्था की ताकि मेरे गरीब भाई-बहन भी समर्थ हों और अपने जीवन को सुचारू रूप से चला सकें।

मजदूरों के मजबूत हाथों का प्रदेश और देश बनाने में महत्वपूर्ण योगदान है।

विपरीत परिस्थितियों में इन्हें रोजगार उपलब्ध कराने के लिए मैंने #श्रमसिद्धि और #रोजगारसेतु अभियान चलाया। मुझे खुशी है कि इसके माध्यम से 26 लाख से अधिक श्रमिकों को रोजगार मिला है। आपके सहयोग के बिना प्रदेश को #COVID19 से उत्पन्न परिस्थितियों और अन्य कठिनाइयों से निकालना संभव नहीं था। आप सबके सहयोग से ही यह असंभव कार्य संभव हुआ है।
प्रदेश के आप सभी अधिकारियों, कर्मचारियों और नागरिकों के अभूतपूर्व सहयोग के लिए हृदय से आभार व्यक्त करता हूं। मेरे भाई-बहनों, अब हमें अपने प्रदेश को सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाना है।प्रदेश के चहुंमुखी विकास और किसानों, युवाओं, महिलाओं तथा गरीबों का कल्याण ही हमारा ध्येय होगा। यह लक्ष्य भी संभव होगा, आप अपना आशीर्वाद सतत ऐसे ही बनाये रखें।