जनरल प्रमोशन मिलते ही छात्रों ने की परीक्षा फीस वापसी की मांग

Advertisement

जनरल प्रमोशन मिलते ही छात्रों ने की परीक्षा फीस वापसी की मांग : मध्यप्रदेश  में बढ़ते कोरोना केस के कारण मध्यप्रदेश सरकार ने स्नातक और स्नातकोतर परीक्षाओ में छात्रों को जनरल प्रमोशन दे दिया हैं | जिसमे प्रथम और द्वितीय वर्ष के विद्यार्थियों को पूर्व की कक्षा या आतंरिक मूल्यांकन के आधार पर अगली कक्षा में प्रमोट किया गया हैं ! स्नातकोत्तर चतुर्थ सेमेस्टर के छात्रों को पूर्व की परीक्षा में सर्वाधिक प्राप्तांको के आधार पर जनरल प्रमोशन दिया जा  रहा हैं! साथ ही वे अंको में वृद्धि के लिए!तय तिथि तक परीक्षा भी दे सकते हैं |

Advertisement

जनरल प्रमोशन मिलते ही छात्रों ने की परीक्षा फीस वापसी की मांग

GENERAL PROMOTION मिलते ही छात्रों ने की परीक्षा फीस वापसी की मांग

अब जैसे ही सरकार ने जनरल प्रमोशन को हरी झंडी दी हैं!तो छात्र परीक्षा शुल्क लौटने की बात पर अड़े हैं ! मामले में कई विद्यार्थियों ने देवी अहिल्या विश्व विद्यालय के सामने मांग रख दी हैं | इसके जवाब मे अधिकारीयों का कहना हैं की !राशि का अधिकांश हिस्सा परीक्षाओ से जुडी व्यवस्थाओ पर खर्च हो चूका हैं | हालांकि अभी तक कोई गाइड लाइन जारी नहीं हुई हैं |

Advertisement

जनरल प्रमोशन की घोषणा होते ही!स्नातक प्रथम एवं द्वितीय वर्ष के छात्र फीस लौटने के लिए विश्व विद्यालय के चक्कर लगाने लगे  हैं | बीएससी के छात्र लकी मंडलोई एवं बीकॉम के छात्र मयंक वर्मा का कहना है कि फीस फरवरी  में भरवाइ गई | अब जब परीक्षाएं रद्द हो चूंकि है तो ! परिक्षार्थियों को फीस वापिस लौटाई जानी चाहिए | अधिकांश विद्यार्थियों की आर्थिक स्थित काफी कमजोर हैं | इसको देखते हुऐं विश्व विद्यालय को उचित निर्णय लेने की जरुरत हैं |

इस सन्दर्भ में युवक  कांग्रेस के प्रवक्ता अभिजीत पांडे ने भी विश्वविद्यालय के सामने फीस लौटने की मांग रखी | विश्वविद्यालय में बीए , बीकॉम ,बीएससी ,बीएड ,बीसीए , बेचलर ऑफ़ सोशल वर्क ,बीबीए समेत कई  स्नातक पाठ्यक्रमों में लगभग दो लाख से अधिक विद्यार्थी हैं | जिससे विश्व विद्यालय को लगभग 40 करोड रुपये की आय हुई हैं |

विवि प्रशासन की टिपण्णी 

फीस लौटने को लेकर विवि प्रशाशन का अपना तर्क हैं ! अधिकारीयों का कहना हैं किअंतिम  ही प्रथम एवं द्वितीय वर्ष की परीक्षाएं करवाने को लेकर तैयार था ! बस ये परीक्षाएं शुरू नहीं हो पाई ! विवि प्रशासन  का कहना हैं की परीक्षा से जुडी काफी सारी  व्यवस्था हो चूंकि थी | जैसे कॉपी – पेपर भिजवाना , पेपर सेट करना ,परीक्षा केंद्र बनाना ,पर्यवेक्षक तय करना आदि | इन पर राशि खर्च हो चुकी हैं | प्रथम एवं द्वितीय वर्ष के की परीक्षा की अधिकांश तैयारियां हो चुकी थी |

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here