EPF Account Holders : एक गलती से हो सकता है 7 लाख रुपये का नुकसान ईपीएफ वालों को ये अपडेट

EPF Account Holders : कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ( Employees Provident Fund Organization ) से जुड़े ज्यादातर काम अब ऑनलाइन होने लगे हैं ! चाहे आप पीएफ का एडवांस पैसा चाहते हों या कर्मचारी की मौत की स्थिति में फुल एंड फाइनल सेटलमेंट या डेथ क्लेम करना चाहते हों, सभी सुविधाएं घर बैठे मिलेंगी ! लेकिन, अगर आपने एक गलती की तो सब कुछ हाथ से निकल सकता है ! कर्मचारी भविष्य निधि, ( EPF ) एक ऐसा पैसा जो समय पर काम आ सकता है ! प्रोविडेंट फंड से जुड़े ज्यादातर काम ऑनलाइन होते हैं ! क्लेम सेटलमेंट काफी आसान हो गया है.

EPF Account Holders

EPF Account Holders

EPF Account Holders

आपको कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ( Employees Provident Fund Organization ) का एडवांस पैसा चाहिए हो या फुल एंड फाइनल सेटलमेंट करना हो या फिर किसी कर्मचारी की मौत पर डेथ क्लेम से जुड़ा कोई मसला हो, एक क्लिक पर सभी सुविधाओं का लाभ उठाया जा सकता है ! लेकिन, अगर आपने कोई गलती की तो आपका पीएफ का पैसा, पेंशन या मृत्यु के समय मिला 7 लाख रुपये का ईडीएलआई बीमा सब खत्म हो सकता है ! आइये जानते हैं क्यों?

ई-नॉमिनेशन जरूरी है

ईपीएफ ( EPF ) सब्सक्राइबर्स घर बैठे ई-नॉमिनेशन फाइल कर सकते हैं ! सदस्य ऑनलाइन पोर्टल पर परिवार के किसी सदस्य को नॉमिनी बना सकते हैं ! नॉमिनी बनाना जरूरी है ! कर्मचारी की मृत्यु पर नॉमिनी घर बैठे ई-नॉमिनेशन के जरिए भविष्य निधि (पीएफ), पेंशन (ईपीएस) और ईडीएलआई बीमा योजना के तहत 7 लाख रुपये का दावा दायर कर सकता है ! कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ( Employees Provident Fund Organization ) के मुताबिक कर्मचारी भविष्य निधि योजना (EPF) और कर्मचारी पेंशन योजना (EPS) के हर सदस्य के लिए ई-नॉमिनेशन करना अनिवार्य है.

किसे बनाया जा सकता है नॉमिनी

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ( Employees Provident Fund Organization ) नॉमिनेशन में परिवार के किसी सदस्य जैसे माता-पिता, पति-पत्नी, भाई-बहन या परिवार के किसी अन्य योग्य सदस्य को नॉमिनी बनाया जा सकता है ! नामांकित व्यक्ति के नाम और विवरण के साथ, कर्मचारी की मृत्यु की स्थिति में भविष्य निधि धन, पेंशन धन या बीमा धन का दावा किया जा सकता है ! ईपीएफओ द्वारा प्रदान किए जाने वाले बीमा की अधिकतम सीमा 7 लाख रुपये है !

ई-नॉमिनेशन के क्या फायदे हैं

  • EPFO ऑफिस जाने का झंझट खत्म.
  • अत्यधिक दस्तावेज़ीकरण की आवश्यकता समाप्त हो जाती है !
  • परिवार के एक से अधिक सदस्यों को नॉमिनी बनाया जा सकता है ! उन्हें बराबर रकम मिलेगी.
  • नॉमिनी कभी भी बदला जा सकता है ! नये सदस्य जोड़ सकते हैं.
  • कर्मचारी की मृत्यु के बाद नॉमिनी ई-नॉमिनेशन के जरिए ऑनलाइन क्लेम कर सकता है.

ईपीएफ ई-नॉमिनेशन कैसे करें

  • सदस्य ई-सर्वर पोर्टल www.unifiedportal-mem-epfindia.gov.in पर जाएं !
  • यूएएन और पासवर्ड के जरिए लॉग इन करें !
  • व्यू प्रोफाइल विकल्प में पासपोर्ट साइज फोटो अपलोड करें !
  • मैनेज सेक्शन में जाएं और ई-नॉमिनेशन पर क्लिक करें !
  • नामांकित व्यक्ति का नाम, आधार नंबर, फोटो, जन्म तिथि, बैंक खाता संख्या दर्ज करें !
  • अगले पेज पर ई-साइन पर क्लिक करें और आधार के जरिए ओटीपी जनरेट करें !
  • आधार से जुड़े मोबाइल पर प्राप्त ओटीपी दर्ज करें !
  • आपका ई-नामांकन दाखिल हो जाएगा.

ई-नामांकन के बाद ही पेंशन और मृत्यु दावे का दावा किया जा सकेगा

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ( EPFO  ) के मुताबिक, नॉमिनेशन के लिए पहले कर्मचारी को फॉर्म-2 हार्ड कॉपी में भरकर ईपीएफ ऑफिस में जमा करना होता था ! लेकिन, डिजिटल इंडिया प्रोग्राम के तहत अब ई-सेवा पोर्टल के जरिए परिवार के किसी सदस्य को नॉमिनी बनाया जा सकता है ! कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ( Employees Provident Fund Organization ) यह ऑनलाइन किया जा सकता है ! पेंशन और मृत्यु दावों का निपटान तभी किया जाएगा जब सदस्य के खाते में ई-नामांकन किया जाएगा !

Old Pension Big Update : कर्मचारियों की पुरानी पेंशन योजना को लेकर वित्त मंत्री ने दखल देने से किया इनकार

7th Pay Commission News : कर्मचारियों के फिटमेंट फैक्टर में बढ़ोतरी से 3 गुना बढ़ जाएगी सैलरी

Child Aadhar Card : बच्चे के आधार कार्ड बनवाने को लेकर हैं परेशान, तो फटाफट घर बैठे करें ये काम, जाने