EPFO 23 September Update : 20 साल नौकरी करने के बाद कर्मचारियों को मिलेगी 4286 रुपए मासिक पेंशन

EPFO 23 September Update : कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ( Employees Provident Fund Organization ) प्राइवेट सेक्‍टर में काम करने वाले कर्मचारियों को कई तरह की सुविधाएं देता है ! ईपीएफओ ( EPFO ) की तरफ से चलाई जाने वाली पेंशन स्‍कीम है ! इस स्कीम के तहत बीस साल नौकरी करने के बाद कर्मचारियों को 4286 रुपये मासिक पेंशन मिलती है

EPFO 23 September Update

EPFO 23 September Update

EPFO 23 September Update

प्राइवेट सेक्‍टर में काम करने वाले कर्मचारियों को कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ( Employees Provident Fund Organization ) कई तरह की सुविधाएं देता है ! ईपीएफओ ( EPFO ) की तरफ से चलाई जाने वाली पेंशन स्‍कीम है ! दरअसल हर महीने PF खाते में कर्मचारी की बेसिक सैलरी + डीए का 12 फीसदी जमा होता है ! एम्प्लॉयर का योगदान भी इतना ही होता है.

Employees Provident Fund Organization

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ( Employees Provident Fund Organization ) इसमें से 8.33% राशि कर्मचारी के पेंशन फंड (EPS Fund) में जाती है और बाकी 3.67% की राशि ही पीएफ खाते में जाती है ! 58 साल की उम्र के बाद कर्मचारी को पीएफ खाते में जमा रकम एकमुश्‍त मिल जाती है, लेकिन उसकी पीएफ की राशि उसके कॉन्‍ट्रीब्‍यूशन के आधार पर एक फॉर्मूले के तहत तय की जाती है ! आइए आपको बताते हैं कि वो फॉर्मूला क्‍या है और रिटायरमेंट के बाद आपको कितनी पेंशन मिलेगी

EPFO 23 September Update ये है पेंशन का फॉर्मूला

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ( Employees Provident Fund Organization ) रिटायरमेंट के बाद आपको कितनी पेंशन मिलेगी इसके लिए फॉर्मूला है – कर्मचारी का मासिक वेतन = पेंशन योग्य वेतन X पेंशन योग्य सेवा /70 ! मौजूदा नियमों के अनुसार किसी भी कर्मचारी की सैलरी का 8.33% उसके पेंशन खाते में जमा होता है ! ईपीएफओ ( EPFO ) हालांकि, पेंशन योग्य सैलरी की अधिकतम सीमा 15 हजार रुपए है ! ऐसे में अगर किसी व्‍यक्ति की सैलरी 15000 रुपए है तो 15000 X 8.33 /100 = 1250 रुपए हर महीने उसके पेंशन खाते में जाएंगे !

पेंशन के फॉर्मूले के हिसाब से अब अगर कैलकुलेशन की जाए तो अगर किसी की मंथली सैलरी (आखिरी 60 महीनों की सैलरी का औसत) 15 हजार रुपए है और नौकरी की अवध‍ि 20 साल है तो 15000X 20/70 = 4286 रुपए मासिक पेंशन होगी ! वहीं अगर व्‍यक्ति नौकरी की अवधि 25 साल है तो 15000 X 25/70 = 5357 रुपए और 30 साल की अवधि होने पर इस फॉर्मूले के हिसाब से उसकी मासिक सैलरी 6428 रुपए बनेगी ! अगर 15 हजार की लिमिट हट जाती है और आपकी सैलरी 30 हजार है तो आपको फॉर्मूले के हिसाब से जो पेंशन मिलेगी वो ये होगी ! (30,000 X 30)/70 = 12,857

ये है पेंशन के लिए जरूरी शर्तें

  • ईपीएफओ ( EPFO ) सदस्य होना जरूरी.
  •  कम से कम रेगुलर 10 साल तक नौकरी में रहना जरूरी.
  •  58 साल के होने पर मिलती है पेंशन ! 50 साल के बाद और 58 की उम्र से पहले भी पेंशन लेने का विकल्प.
  • पहले पेंशन लेने पर घटी हुई पेंशन मिलेगी ! इसके लिए फॉर्म 10D भरना होगा.
  •  कर्मचारी की मौत होने पर परिवार को मिलती है पेंशन.
  • सर्विस हिस्ट्री 10 साल से कम है तो उन्हें 58 साल की आयु में पेंशन अमाउंट निकालने का ऑप्शन मिलेगा.

EPFO किसे बना सकते हैं नॉमिनी

ईपीएफओ ( EPFO ) नॉमिनेशन में परिवार जैसे- माता-पिता, पति-पत्नी, भाई-बहन या परिवार का कोई और योग्य सदस्य को नॉमिनी बनाया जा सकता है ! नॉमिनी का नाम और डीटेल्स होने से कर्मचारी की मृत्यु की स्थिति में प्रोविडेंट फंड का पैसा, पेंशन का पैसा या फिर इंश्योरेंस का पैसा क्लेम किया जा सकता है ! कर्मचारी भविष्य निधि संगठन ( Employees Provident Fund Organization ) की तरफ से मिलने वाले इंश्योरेंस में 7 लाख रुपए तक की अधिकतम सीमा है !

Post Office ग्राहकों के लिए जरूरी खबर, बदल गए ब्याज और निकासी के नियम

SBI Chocolate Scheme : SBI अपने इन ग्राहकों को भेज रहा है चॉकलेट, वजह जानकर रह जाएंगे हैरान

PM Kisan Yojana News Update : किसानों की बल्ले-बल्ले, सरकार ने बढ़ाई PM किसान किस्त की राशि