ITR Refund Update : ITR ने करदाताओं से कहा, करें ये काम वरना लगेगा जुर्माना’, रिफंड में होगी परेशानी

ITR Refund Update : इनकम टैक्स रिटर्न ( Income Tax Return ) दाखिल करने वालों को रिफंड तभी मिलेगा ! जब आपने आईटीआर की ई-वेरिफिकेशन प्रक्रिया पूरी कर ली होगी. ई-वेरिफिकेशन पूरा नहीं करने वालों को जुर्माना भरना पड़ सकता है !

ITR Refund Update

ITR Refund Update

ITR Refund Update

आयकर विभाग ने ऐसे करदाताओं के लिए सूचना जारी की है ! जिन्होंने अपने आयकर रिटर्न ( Income Tax Return ) का ई-सत्यापन (आईटीआर-ई सत्यापन) नहीं कराया है। अगर आपने इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) फाइल कर दिया है !

ITR Refund Update

और ई-वेरिफिकेशन नहीं कराया है तो ITR ( Income Tax Return ) फाइलिंग प्रक्रिया अधूरी मानी जाती है ! तो अगर आपने यह काम पूरा नहीं किया है ! तो इसे जल्द से जल्द पूरा कर लें। विभाग ने कहा कि ई-सत्यापन पूरा नहीं करने वालों को जुर्माना देना पड़ सकता है

30 दिन के भीतर ई-सत्यापन अनिवार्य

आयकर विभाग ने ट्वीट किया कि ITR ( Income Tax Return ) दाखिल करने के 30 दिनों के भीतर ई-सत्यापन करना याद रखें। देर से सत्यापन करने पर आयकर अधिनियम, 1961 के प्रावधानों के अनुसार विलंबित जुर्माना लग सकता है। आयकर रिटर्न को वैध साबित करने के लिए इसका ई-सत्यापन आवश्यक है।

Income Tax Return

आयकर विभाग ने ITR ( Income Tax Return ) दाखिल करने के 30 दिनों के भीतर रिटर्न का ई-सत्यापन अनिवार्य कर दिया है। अगर आपने अपना आईटीआर 31 जुलाई 2023 को फाइल किया था तो आपके पास ई-वेरिफिकेशन के लिए बहुत कम समय बचा है।

आईटीआर के ई-सत्यापन के चरण

  • इनकम टैक्स के ई-फाइलिंग पोर्टल पर जाएं ! ‘ई-सत्यापित रिटर्न’ पर क्लिक करें।
  • अपना पैन, मूल्यांकन वर्ष और पावती संख्या दर्ज करें।
  • आप अपने पैन और पासवर्ड से भी लॉग इन कर सकते हैं, फिर ‘माय अकाउंट’ पर जाएं और फिर ‘ई-सत्यापित रिटर्न’ पर क्लिक करें।
  • इसके बाद आपकी स्क्रीन पर एक नया पेज खुलेगा, जिससे पता चलेगा कि आपका वेरिफिकेशन पेंडिंग है।
  • आधार ओटीपी के जरिए वेरिफिकेशन की प्रक्रिया बेहद आसान है. कोई भी व्यक्ति रिटर्न के सत्यापन और ई-सत्यापन के लिए आधार के साथ पंजीकृत और
  • मैप किए गए मोबाइल नंबर पर प्राप्त ओटीपी का उपयोग कर सकता है।

अन्यथा रिफंड नहीं मिलेगा

इनकम टैक्स रिटर्न ( Income Tax Return ) दाखिल करने वालों को रिफंड तभी मिलेगा जब आपने आईटीआर की ई-सत्यापन प्रक्रिया पूरी कर ली होगी। अगर आपने यह काम पूरा नहीं किया तो 120 दिन के बाद आपका रिटर्न अमान्य हो जाएगा !

सीबीडीटी के चेयरमैन नितिन गुप्ता ने हाल ही में बताया था ! कि ITR ( Income Tax Return ) रिटर्न प्रोसेसिंग में लगने वाला औसत समय पिछले साल के 26 दिनों की तुलना में इस साल घटकर 16 दिन रह गया है ! उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में इसमें और कमी आएगी !

ITR Filing

31 जुलाई के बाद आयकर रिटर्न ( Income Tax Return ) दाखिल करने वाले करदाताओं को विलंब शुल्क देना होगा। अगर कोई व्यक्ति एक साल में 5 लाख रुपये से ज्यादा कमाता है !

ITR Refund Update

तो उसे लेट फाइन के तौर पर 5,000 रुपये देने होंगे. अगर किसी करदाता की सालाना आय 5 लाख रुपये से कम है तो उसे लेट फीस के तौर पर 1,000 रुपये देने होंगे ! जुर्माने के साथ देर से ITR ( Income Tax Return ) दाखिल करने का विकल्प 31 दिसंबर, 2023 तक उपलब्ध है।

यह भी जाने :- 

7th Pay Dearness Allowance : जनवरी में केंद्रीय कर्मचारियों को मिलेगी खुशखबरी, इतना बढ़ जाएगा DA, जाने