ITR Rules Change : देखते-देखते गुजर गए 4 महीने, इन 10 बदलावों को देखकर करें आगे का टैक्ससेविंग प्लान

ITR Rules Change : फाइनेंशियल ईयर 2023-24 के 4 महीने से ज्यादा समय बीत चुके हैं ! अगर आपने अब तक इस साल के लिए ITR ( Income Tax Return ) प्लानिंग नहीं की है ! तो अब देरी न करें ! टैक्स प्लानिंग करने से पहले इस फाइनेंशियल ईयर से इनकम टैक्स व्यवस्था में हुए ! बड़े बदलावों को जरूर जान लीजिए ! ये टैक्स प्लानिंग में आपके काम आएंगे और पैसे बचाने में आपकी मदद करेंगे !

ITR Rules Change

ITR Rules Change

ITR Rules Change

सरकार ने न्यू ITR ( Income Tax Return ) टैक्स रिजीम को आकर्षक बनाने के लिए फाइनेंशियल ईयर 2023-24 के बजट में कई बदलाव किए हैं ! पहले उनकी बात करते हैं ! अगर आप इस फाइनेंशियल ईयर से ओल्ड या न्यू टैक्स रिजीम में से किसी एक को नहीं चुनते हैं ! तो नई टैक्स व्यवस्था डिफॉल्ट रूप से लागू हो जाएगी ! अगर आपको एग्जम्प्शन और डिडक्शन वाली पुरानी टैक्स व्यवस्था में बने रहना है तो उसे चुनना होगा !

ITR Rules Change

नई ITR ( Income Tax Return ) टैक्स व्यवस्था में सेक्शन 87A के तहत मिलने वाली टैक्स रिबेट की लिमिट बढ़ा दी गई है ! अगर आप नई व्यवस्था चुनते हैं ! तो 7.27 लाख रुपये तक की सालाना इनकम पर कोई टैक्स नहीं देना होगा ! पुरानी कर व्यवस्था में 5 लाख तक की आय पर कोई टैक्स नहीं है.

बढ़ गई छूट की बेसिक लिमिट

नई कर व्यवस्था में बेसिक एग्जम्प्शन लिमिट बढ़ाई गई है ! और ITR ( Income Tax Return ) टैक्स स्लैब में बदलाव किया गया है ! अब 0 से 3 लाख रुपये तक की आय पर कोई टैक्स नहीं है ! वहीं 3 से 6 लाख रुपये की इनकम पर 5 फीसदी, 6 से 9 लाख की आय पर 10 फीसदी, 9 से 12 लाख की आय पर 15 फीसदी, 12 से 15 लाख पर 20 फीसदी और 15 लाख से ऊपर की सालाना कमाई पर 30 फीसदी टैक्स लगेगा !

Income Tax Return

सैलरीड व्यक्ति को स्टैंडर्ड डिडक्शन का फायदा अब नई कर व्यवस्था में भी मिलेगा ! इसके तहत ITR ( Income Tax Return ) करदाता को 50,000 रुपये का डिडक्शन मिलेगा ! 15 लाख रुपये या उससे ज्यादा कमाने वाले को स्टैंडर्ड डिडक्शन के रूप में 52,500 रुपये का फायदा होगा.

लीव को कैश कराने पर ज्यादा लाभ

गैर-सरकारी कर्मचारियों के लिए लीव एनकैशमेंट पर ITR ( Income Tax Return ) टैक्स छूट की सीमा बढ़ाकर 25 लाख रुपये की गई है ! पहले यह तीन लाख रुपये ही थी ! इससे रिटायरमेंट या नौकरी छोड़ते वक्त कर्मचारी पर टैक्स का बोझ कम पड़ेगा !

Income Tax Return

नई ITR ( Income Tax Return ) व्यवस्था में हाई सरचार्ज को 37 फीसदी से घटाकर 25 फीसदी किया गया है ! ये दरें 5 करोड़ रुपये से ऊपर की इनकम पर लागू होंगी ! सरचार्ज में कमी से मोटा कमाने वालों पर टैक्स का बोझ कम होगा !

महंगी पॉलिसी पड़ेगी और महंगी

फाइनेंशियल ईयर 2023-24 से महंगी बीमा पॉलिसी पर टैक्स का लगाया गया है ! एक अप्रैल 2023 या उसके बाद खरीदी गई ! जीवन बीमा पॉलिसी या पॉलिसियों का कुल वार्षिक प्रीमियम अगर 5 लाख रुपये से अधिक है ! तो मैच्योरिटी पर मिलने वाली रकम ITR ( Income Tax Return ) टैक्सेबल होगी ! यह नियम यूनिट लिंक्ड इंश्योरेंस प्लान (ULIP) पर लागू नहीं है !

ITR Rules Change

सरकार ने घर खरीदकर कैपिटल गेन ITR ( Income Tax Return ) टैक्स बचाने वालों को झटका दिया है ! सेक्शन 54 और सेक्शन 54F के तहत, 10 करोड़ रुपए तक के कैपिटल गेन पर ही टैक्स छूट मिलेगी !

Income Tax Return

अगर कोई व्यक्ति प्रॉपर्टी या शेयर जैसे कैपिटल एसेट के मुनाफे से कोई रेसिडेंशियल प्रॉपर्टी खरीदता है ! तो मुनाफे पर टैक्‍स छूट की सीमा सिर्फ 10 करोड़ रुपये होगी ! इसके ऊपर जितना कैपिटल गेन होगा ! उस पर ITR ( Income Tax Return ) टैक्‍स लगेगा !

यह भी जाने :- 

LIC की इस पॉलिसी पर मिलेगा डबल फायदा, दिया जाएगा 125% प्रीमियम, चेक करें डिटेल्स