Solar Rooftop Yojana Online Registration : सोलर रूफटॉप के लिए ऑनलाइन आवेदन शुरू , यंहा करें आवेदन

Solar Rooftop Yojana Online Registration : देश में सोलर ऊर्जा ( Solar Energy ) को बढ़ावा देने और लोगों को ऊर्जा क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा देशभर में सोलर रूफटॉप योजना ( Solar Rooftop Yojana ) प्लांट लगाने की योजना चलाई जा रही है। योजना के तहत लाभार्थी को सोलर प्लांट ( Solar Panel ) लगाने पर सब्सिडी दी जाती है। इन संयंत्रों की स्थापना से न केवल उपभोक्ताओं को सस्ती बिजली मिलती है बल्कि पर्यावरण संरक्षण में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है ।

Solar Rooftop Yojana Online Registration

Solar Rooftop Yojana Online Registration

MNRE Solar Rooftop Yojana Online Registration

सोलर ऊर्जा ( Solar Energy ) प्लांट लगाने में जहां 4 साल में लागत निकल जाती है, वहीं इसकी लाइफ भी करीब 25 साल होती है । सोलर रूफटॉप योजना ( Solar Rooftop Yojana ) के अनुसार लाभार्थी को 1 किलोवाट क्षमता की प्रणाली के लिए लगभग 100 वर्ग फुट की आवश्यकता होती है ( Solar Panel ) , जिससे प्रतिदिन 4 यूनिट केडब्ल्यूपी का उत्पादन किया जा सकता है ।

सोलर ऊर्जा ( Solar Energy ) उपभोक्ता द्वारा स्वीकृत पावर-लोड के अधिकतम 80 प्रतिशत क्षमता के रूफटॉप सोलर पावर प्लांट अनापत्ति प्रमाण-पत्र जारी कर डिस्कॉम द्वारा स्थापित किए जाते हैं । सोलर रूफटॉप योजना ( Solar Rooftop Yojana ) प्लांट द्वारा उत्पन्न ऊर्जा में से ग्रिड में प्रवाहित होने वाली ऊर्जा को सोलर पैनल ( Solar Panel ) उपभोक्ता के बिजली बिल में जोड़ा जाता है।

इस सोलर रूफटॉप योजना ( Solar Rooftop Yojana ) ग्रिड में प्रवाहित होने वाली शुद्ध अधिशेष बिजली, यदि बिजली 100 यूनिट से अधिक है, तो वितरण निगम द्वारा घरेलू क्षेत्र के सोलर पैनल ( Solar Panel ) उपभोक्ताओं को केवल 3.14 प्रति यूनिट की दर से भुगतान किया जाता है । यदि शुद्ध अधिशेष ऊर्जा 100 यूनिट से कम है, तो यह सोलर ऊर्जा ( Solar Energy ) आगामी बिजली बिल में समायोजित हो जाती है।

Solar Energy योजना के तहत दी जाने वाली सब्सिडी

नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय, भारत सरकार सोलर रूफटॉप योजना ( Solar Rooftop Yojana ) में राज्य के घरेलू उपभोक्ताओं द्वारा स्थापित 3 किलोवाट सोलर ऊर्जा ( Solar Energy ) क्षमता तक के संयंत्रों पर 40 प्रतिशत तथा 3 किलोवाट से 10 किलोवाट क्षमता के 20 प्रतिशत राशि पर अनुदान प्रदान कर रही है ( Solar Panel ) ।

इन सोलर ऊर्जा ( Solar Energy ) संयंत्रों की स्थापना से प्रति किलोवाट प्रति दिन लगभग 4 यूनिट बिजली उत्पन्न होती है और सोलर रूफटॉप योजना ( Solar Rooftop Yojana ) उपभोक्ता द्वारा खर्च की गई पूरी राशि लगभग 4 वर्षों में वसूल की जाती है और संयंत्र का जीवन लगभग 25 वर्ष है। इन सोलर पैनल ( Solar Panel ) प्लांटों की स्थापना के बाद 5 साल तक रखरखाव की जिम्मेदारी भी निगम के स्वीकृत वेंडरों की होती है.

सौर पैनल लागत : Solar Rooftop Yojana

सोलर ऊर्जा ( Solar Energy ) उत्पादन के लिए, नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय ने ग्रिड कनेक्टेड रूफटॉप सोलर योजना के लिए विभिन्न राज्यों के लिए राज्य डिस्कॉम द्वारा सोलर रूफटॉप योजना ( Solar Rooftop Yojana ) प्लांट स्थापित करने के लिए दरें (लागत) तय की हैं। लाभार्थी को रूफटॉप सोलर प्लांट की लागत का भुगतान मंत्रालय द्वारा विक्रेता को निर्धारित दर पर दी जाने वाली सब्सिडी राशि में से कटौती कर करना होगा । यह प्रक्रिया डिस्कॉम के ऑनलाइन पोर्टल ( Solar Panel ) पर दी गई है। मंत्रालय द्वारा डिस्कॉम के माध्यम से विक्रेताओं को सब्सिडी राशि प्रदान की जाएगी।

Solar Rooftop Yojana Online Registration

सोलर रूफटॉप योजना ( Solar Rooftop Yojana ) के तहत सोलर प्लांट लगाने के इच्छुक आवासीय उपभोक्ता ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं और पैनल में शामिल विक्रेताओं द्वारा रूफटॉप सोलर प्लांट ( Solar Panel ) लगवा सकते हैं । मंत्रालय द्वारा डिस्कॉम के माध्यम से विक्रेताओं को सोलर ऊर्जा ( Solar Energy ) सब्सिडी राशि प्रदान की जाएगी ।

Solar Energy

इच्छुक व्यक्ति अपने क्षेत्र के संबंधित डिस्कॉम या बिजली कार्यालय में जाकर आवेदन कर सकते हैं ( Solar Panel ) । अधिक जानकारी के लिए संबंधित डिस्कॉम से संपर्क करें या सोलर रूफटॉप योजना ( Solar Rooftop Yojana ) का टोल फ्री नंबर 1800-180-3333 डायल करें । अपने डिस्कॉम के ऑनलाइन पोर्टल को जानने के लिए Solarrooftop.gov.in पर क्लिक करें । भविष्य में ऊर्जा की आपूर्ति सोलर ऊर्जा ( Solar Energy ) से की जाएगी !

PM Awas Yojana September Update : इन लोगों को मिलेगा आवास योजना का लाभ, ऐसे चेक करें स्टेट्स