PM Awas Yojana : अब हॉटस्पॉट बनेंगे पीएम आवास, पीएम ने कहा- ये दिवाली होगी खास, आधुनिक गतिविधियों के साथ व्यापार-कारोबार के भी बनेंगे हॉटस्पॉट

PM Awas Yojana अब हॉटस्पॉट बनेंगे पीएम आवास, पीएम ने कहा- ये दिवाली होगी खास, आधुनिक गतिविधियों के साथ व्यापार-कारोबार के भी बनेंगे हॉटस्पॉट : जैसा की आप सभी जानते हैं कि केंद्र सरकार देश के गरीब नागरिकों के लिए कई तरह की योजनाओं की शुरूआत कर रही हैं, तोकि वो आर्थिक तौर पर थोड़े मजबूत बन सकें। साथ ही इस सकंट की घटी में उनके सर से छत न हटे इसलिए सरकार की ओर से प्रधानमंत्री आवास योजना (PM Awas Yojana) की शुरूआत की गई थी। प्रधानमंत्री आवास योजना (PM Awas Yojana) का उद्देश्य ही सीधे गरीबों को सशक्त बनाना है, जिसके तरह अब कर कई लोगों के सर पर छत आ चुकी हैं। उनका अपना घर होने का सपना पूरा हुआ।

PM Awas Yojana : अब हॉटस्पॉट बनेंगे पीएम आवास, पीएम ने कहा- ये दिवाली होगी खास, आधुनिक गतिविधियों के साथ व्यापार-कारोबार के भी बनेंगे हॉटस्पॉट

Homes will now be hotspots under PM Awas Yojana अब हॉटस्पॉट बनेंगे पीएम आवास
Homes will now be hotspots under PM Awas Yojana

मध्य प्रदेश में 12,000 गांवों में निर्मित 1.75 लाख आवासों का लोकार्पण करने के दौरान वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा कि इस बार आप सभी की दीवाली, आप सभी के त्योहारों की खुशियां कुछ और ही होंगी। कोरोना काल (Corona Crisis) नहीं होता तो आज आपके जीवन की इतनी बड़ी खुशी में शामिल होने के लिए आपके घर का एक सदस्य, आपका प्रधानसेवक आपके बीच होता। साथ ही पीएम ने कहा कि आज का ये दिन करोड़ों देशवासियों के उस विश्वास को भी मजबूत करता है कि सही नीयत से बनाई गई सरकारी योजनाएं (Government schemes) साकार भी होती हैं और उनके लाभार्थियों तक पहुंचती भी हैं।

कोराना कोल में 45 से 60 दिन में ही बनाकर तैयार हुए घर

पीएम मोदी आगे कहते हैं कि जिन साथियों को आज अपना घर मिला है। उनके भीतर के संतोष, साथ ही उनके आत्मविश्वास को मैं अनुभव कर सकता हूं। पीएम साहब आगे कहते हैं कि सामान्य तौर पर प्रधानमंत्री आवास योजना (PM Awas Yojana) के तहत एक घर बनाने में औसतन 125 दिन का समय लगता है, लेकिन कोरोना की इस सकंट की घड़ी में पीएम आवास योजना (PM Awas Yojana) के तहत घरों को केवल 45 से 60 दिन में ही बनाकर तैयार कर दिया गया है। आपदा को अवसर में बदलने का ये बहुत ही अच्छा मौका और उदाहरण है। उन्होंने कहा कि इस तेजी में बहुत बड़ा योगदान रहा शहरों से लौटे हमारे श्रमिक साथियों का।

उन्होंने कहा कि हमारे इन साथियों ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण रोजगार अभियान (PM Garib Kalyan Rojgar Abhiyan) का पूरा लाभ उठाते हुए अपने परिवार को संभाला और अपने गरीब भाई-बहनों के लिए घर भी तैयार करके दे दिया। मुझे संतोष है कि पीएम गरीब कल्याण अभियान (PM Garib Kalyan Rojgar Abhiyan) से मध्य प्रदेश सहित देश के अनेक राज्यों में करीब 23 हज़ार करोड़ रुपए के काम पूरे किए जा चुके हैं।

पूरी मॉनीटरिंग के साथ लाभार्थी खुद अपना घर बनाता है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कहते हैं कि पीएम गरीब कल्याण अभियान (PM Garib Kalyan Rojgar Abhiyan) के तहत घर तो बन ही रहे हैं। हर घर जल पहुंचाने का काम हो, आंगनबाड़ी और पंचायत के भवनों का निर्माण हो, पशुओं के लिए शेड बनाना हो, तालाब और कुएं बनाना हो, ग्रामीण सड़कों का काम हो, गांव के विकास से जुड़े ऐसे अनेक काम तेजी से किए गए हैं। साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि साल 2014 में पुराने अनुभवों का अध्ययन करके पहले पुरानी योजना में सुधार किया गया और फिर प्रधानमंत्री आवास योजना (PM Awas Yojana) के रूप में बिल्कुल नई सोच के साथ योजना लागू की गई।

इसमें लाभार्थी को चुनने से लेकर उनके गृह प्रवेश तक पारदर्शिता को पहले रखा गया। साथ ही घर बनाने के मटीरियल से लेकर उसके निर्माण तक, स्थानीय स्तर पर उपलब्ध और उपयोग होने वाले सामानों को भी पहले रखा गया। साथ ही घर के डिजायन भी स्थानीय जरूरतों के मुताबिक तैयार और स्वीकार किए जा रहे हैं। वहीं पूरी पारदर्शिता के साथ हर चरण की पूरी मॉनीटरिंग के साथ लाभार्थी खुद अपना घर बनाता है।

व्यापार-कारोबार के भी हॉटस्पॉट बनेंगे गांव

इसके अलावा प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पहले गरीब सरकार के पीछे दौड़ता था, अब सरकार लोगों के पास जा रही है। अब किसी की इच्छा के अनुसार लिस्ट में नाम जोड़ा या घटाया नहीं जा सकता। योजना के लिए चुनने से लेकर घर के निर्माण तक वैज्ञानिक और पारदर्शी तरीका अपनाया जा रहा है। प्रधानमंत्री आवास योजना (PM Awas Yojana) हो या स्वच्छ भारत अभियान (Swachh Bharat Mission ) के तहत बनने वाले शौचालय हों। इनसे गरीब को सुविधा तो मिल ही रही है, बल्कि ये रोजगार और सशक्तिकरण को भी बढ़ावा देते हैं। खास तौर पर हमारी ग्रामीण बहनों के जीवन को बदलने में भी ये योजनाएं अहम भूमिका निभा रही हैं।

बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा कि इसी 15 अगस्त को लाल किले से मैंने कहा था कि आने वाले 1 हजार दिनों में देश के करीब 6 लाख गांवों में ऑप्टिकल फाइबर (optical Fibre) बिछाने का काम पूरा किया जाएगा। पहले देश की ढाई लाख पंचायतों तक फाइबर (optical Fibre) पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया था। अब इसको गांव-गांव तक पहुंचाने का संकल्प लिया गया है, जब गांव में भी जगह-जगह बेहतर और तेज इंटरनेट (Fast Internet) आएगा, जगह-जगह वाईफाई हॉटस्पॉट (Wifi hotspot) बनेंगे, तो गांव के बच्चों को पढ़ाई और युवाओं को कमाई के बेहतर अवसर मिलेंगे। साथ ही गांव अब WiFi के ही हॉटस्पॉट (hotspot)) से नहीं जुड़ेंगे, बल्कि आधुनिक गतिविधियों (Rather modern activities) के, व्यापार-कारोबार के भी हॉटस्पॉट (Hotspots of trade) बनेंगे।

यह भी पढ़ें:- Post Office Schemes List : अब ग्राहकों के लिए आसान होगा लेन-देन, बहुत काम आएंगी ये सुविधाएं
Advertisement