PM Kusum Yojana Online : इस योजना के तहत सरकार दे रही है किसानो को 90% सब्सिडी, जानिए कैसे

PM Kusum Yojana Online : हमारे देश की अर्थव्यवस्था का एक बड़ा हिस्सा कृषि क्षेत्र पर आधारित है ! किसानों को खेती करते समय कई तरह की आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है ! आज भी देश में कई किसान अपने खेतों की सिंचाई के लिए डीजल से चलने वाले इंजन का प्रयोग करते हैं ! वहीं, आज के महंगाई के दौर में जिस तेजी से डीजल और पेट्रोल के दाम बढ़ रहे हैं. ऐसे में सरकार ने पीएम कुसुम योजना चलाई ( PM Kusum Yojana ) है !

PM Kusum Yojana Online

PM Kusum Yojana Online

PM Kusum Yojana Online

किसानों की इस समस्या को देखते हुए भारत सरकार एक बहुत ही महत्वाकांक्षी योजना चला रही है ! इस  प्रधानमंत्री कुसुम योजना है ( Pradhan Mantri Kusum Yojana ) ! इस योजना के तहत किसानों ( Farmer ) को 60 प्रतिशत सब्सिडी पर सोलर पंप दिए जा रहे हैं।

PM Kusum Yojana

यह पीएम कुसुम योजना ( PM Kusum Yojana ) है ! यह सुनिश्चित करेगी कि ग्रामीण भार केंद्रों और कृषि पंप-सेट भारों को खिलाने के लिए ! पर्याप्त स्थानीय सौर अन्य नवीकरणीय ऊर्जा आधारित बिजली उपलब्ध हो ! जिसके लिए ज्यादातर दिन के समय बिजली की आवश्यकता होती है। इस प्रधानमंत्री कुसुम योजना है ! ( Pradhan Mantri Kusum Yojana में चूंकि ये बिजली संयंत्र विकेन्द्रीकृत तरीके से कृषि भार या बिजली सबस्टेशनों के करीब स्थित होंगे ! इसके परिणामस्वरूप एसटीयू और डिस्कॉम के लिए कम संचरण हानि होगी ! इसके अलावा, यह योजना डिस्कॉम को आरपीओ लक्ष्य हासिल करने में भी मदद करेगी !

 Pradhan Mantri Kusum Yojana के घटक : PM Kusum Yojana Online

  1. 10,000 मेगावाट विकेन्द्रीकृत ग्राउंड माउंटेड ग्रिड कनेक्टेड रिन्यूएबल पावर प्लांट जिसमें 2 मेगावाट तक के अलग-अलग प्लांट हैं।
  2. 7.5 एचपी तक की व्यक्तिगत पंप क्षमता के 17.50 लाख स्टैंडअलोन सौर ऊर्जा संचालित कृषि पंपों की स्थापना।
  3. 7.5 एचपी तक की व्यक्तिगत पंप क्षमता के 10 लाख ग्रिड से जुड़े कृषि पंपों का सोलराइजेशन।
  4. 2022 से आगे और मार्च 2026 तक प्रधानमंत्री कुसुम योजना है ! ( Pradhan Mantri Kusum Yojana ) के विस्तारित कार्यकाल के दौरान, निम्नलिखित संशोधन किए गए हैं !
  5. घटक बी और सी में मात्राओं के परस्पर अंतरण की अनुमति दी जा रही है ! यह पीएम कुसुम योजना ( PM Kusum Yojana ) के ! घटक-बी और घटक-सी पीएम-कुसुम के तहत, उत्तर-पूर्वी राज्यों में 15 एचपी तक की पंप क्षमता के लिए व्यक्तिगत किसानआर्थिक सहायता प्राप्त होगी।
  6. केंद्र शासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर और लद्दाख और उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश राज्य हालांकि ! 15 एचपी तक के पंपों के लिए सीएफए कुल इंस्टॉलेशन के 10% तक सीमित होगा !
  7. 20.06.2023 को या उससे पहले कार्यान्वयन एजेंसी द्वारा दी गई परियोजनाओं के लिए घटक-सी के तहत फीडर स्तर के सौरकरण के लिए सौर सेल या घरेलू सामग्री की !आवश्यकता की शर्त को हटा दिया गया है !
  8. बजटीय आवंटन या रुपये अतिरिक्त बजटीय संसाधनों तक पहुँचने से पहले CCEA द्वारा अनुमोदित 10,000 करोड़ रुपये का उपयोग किया जाएगा !
  9. सोलर पंप डीजल पंप चलाने के लिए डीजल पर होने वाले खर्च को बचाएगा ! और किसानों ( Farmer ) को डीजल पंप चलाने से होने वाले हानिकारक प्रदूषण को रोकने के अलावा सौर पंप के माध्यम से सिंचाई का एक विश्वसनीय स्रोत प्रदान करेगा !
  10. इलेक्ट्रिक ग्रिड कनेक्शन के लिए लंबी प्रतीक्षा सूची के आलोक में यह पीएम कुसुम योजना ( PM Kusum Yojana ) बिना ग्रिड लोड के चार साल की अवधि में 17.5 लाख किसानों को लाभान्वित करेगी।

Pradhan Mantri Kusum Yojana 

प्रधानमंत्री कुसुम योजना ( Pradhan Mantri Kusum Yojana ) ग्रामीण भूमि मालिकों के लिए ! उनकी सूखी अनुपयोगी भूमि के उपयोग से 25 वर्षों की अवधि के लिए ! आय का एक स्थिर और निरंतर स्रोत खोलेगी ! इसके अलावा अगर पीएम कुसुम योजना ( PM Kusum Yojana ) और सौर ऊर्जा परियोजना की स्थापना के लिए खेती वाले क्षेत्रों का चयन किया जाता है ! तो किसान ( Farmer ) योजना  के साथ-साथ फसल उगाना जारी रख सकते हैं ! इसका फायदा यह है कि सोलर पैनल ( Solar Panel ) को न्यूनतम ऊंचाई से ऊपर लगाना होता है !

Advertising
Advertising

आवेदन कैसे करें

पीएम कुसुम योजना ( PM Kusum Yojana ) में आप सरकार की आधिकारिक वेबसाइट https://www.india.gov.in/ पर जाकर प्रधानमंत्री कुसुम योजना है ! ( Pradhan Mantri Kusum Yojana ) ऑनलाइन फॉर्म भर सकते हैं ! ऑनलाइन पंजीकरण फॉर्म भरने के बाद आपको आवश्यक जानकारी जैसे किसान ( Farmer ) का आधार कार्ड, खसरा सहित भूमि दस्तावेज, एक घोषणा पत्र, बैंक खाते का विवरण आदि प्रदान करना होगा !

यह भी जानिए : Bihar Berojgari Bhatta Yojana Eligibility : इन्हें मिलेगा बेरोजगारी भत्ता , देखें जरुरी पात्रता